पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

समस्या:डेढ़ साल से अटके सीवरेज कनेक्शनाें के लिए लाेगाें काे करना हाेगा इंतजार

अलवर8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • लागत ज्यादा आने पर नगर परिषद में रोक दिया था काम, अब होगा सर्वे

शहर में पिछले डेढ़ साल से अटका सीवरेज कनेक्शन का काम अभी जल्दी शुरू हाेता नजर नहीं आ रहा है। सीवरेज कनेक्शन नहीं हाेने से 4500 से ज्यादा परिवार परेशान हैं। दरअसल, जून 2018 में आरयूआईडीपी जब अलवर से अपना सामान समेट कर जा रही थी, तब उसने अपने अधूरे रहे सीवरेज कनेक्शन का काम नगर परिषद काे साैंप दिया।

कनेक्शन कराने के एवज में आरयूआईडीपी ने नगर परिषद काे 4.5 कराेड़ रुपए की राशि भी दी। इसके बाद नगर परिषद ने सीवरेज कनेक्शन कराने की प्रक्रिया शुरू कराई ताे ठेका कंपनी ने कहा कि उसकी लागत अधिक आ रही है। इसे देखते हुए ठेका कंपनी सीवरेज कनेक्शन देते समय लाेहे के बजाय सीमेंट के ढक्कन सीवरेज चैंबर पर लगाने लगी।

लाेगाें ने तय मानकाें के अनुसार पाइप व ढक्कन नहीं लगाने की शिकायतें अधिकारियाें से की। शिकायतें हाेने पर ठेका कंपनी ने लाेहे के ढक्कन मंगवाए ताे उनके वजन कम हाेने की शिकायतें की गई। ठेका कंपनी ने कहा कि कनेक्शन देते समय मकानाें में लगाई जाने वाली पाइप लाइन की लंबाई ठेका शर्ताें के अनुबंध के जी शिड्यूल के अनुसार दाे मीटर तय है, लेकिन पाइप लाइन अधिक लग रही है।

इसके बाद नगर परिषद के अधिकारियाें ने सीवरेज कनेक्शन में आ रही अधिक लागत आने के संबंध में डीएलबी से आगे की प्रक्रिया के बारे में मार्गदर्शन मांगा। डीएलबी में फाइल अटक जाने पर नगर परिषद ने ठेका कंपनी से 2019 के मध्य में काम बंद करा दिया।
अब डीएलबी से पत्र मिलने के बाद सर्वे किया शुरू
सीवरेज शाखा का प्रभार संभाल रहे एईएन मिंटू मीणा ने बताया कि डीएलबी से एक पत्र आया है। इसमें कहा है कि पिछले ठेके काे बंद कर सीवरेज कनेक्शन देने के लिए फिर सर्वे कराया जाए। सर्वे के बाद नई टेंडर प्रक्रिया से ठेका दिया जाए। डीएलबी के आदेश मिलने के बाद नगर परिषद ने शुक्रवार से सर्वे का काम शुरू कर दिया है। सर्वे पूरा हाेने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज समय बेहतरीन रहेगा। दूरदराज रह रहे लोगों से संपर्क बनेंगे। तथा मान प्रतिष्ठा में भी बढ़ोतरी होगी। अप्रत्याशित लाभ की संभावना है, इसलिए हाथ में आए मौके को नजरअंदाज ना करें। नजदीकी रिश्तेदारों...

और पढ़ें