पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Alwar
  • Welfare Of Self Under The Guise Of Children With Disabilities, Rs 82 Tender Of Eight Pooris, Vegetables, Biscuits And Tea

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

गड़बड़ी:दिव्यांग बच्चों की आड़ में खुद का कल्याण, 82 रु. में दिया आठ पूड़ी, सब्जी, बिस्कुट व चाय का टेंडर

अलवर10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • समग्र शिक्षा अभियान के तहत संचालित फंक्शनल असेसमेंट कैंप की हकीकत

सरकार दिव्यांग बच्चों के कल्याण के लिए काम कर रही है और यहां अलवर में इन दिव्यांग बच्चों की आड़ में शिक्षा विभाग के अधिकारी खुद के कल्याण में लगे हुए हैं। मामला पढ़ेंगे तो आप भी चौंक जाएंगे। समग्र शिक्षा अभियान कार्यालय द्वारा दिव्यांग बच्चों के लिए राजकीय यशवंत स्कूल में आयोजित फंक्शनल असेसमेंट कैंप में एक बच्चे के खाने व नाश्ते के लिए टेंडर 82 रुपए व जीएसटी में दिया गया है।

कुल मिलाकर यह राशि करीब 96 रुपए होती है। हैरानी इस बात की भी होगी कि इस 96 रुपए में उन बच्चों को दिया क्या जा रहा है। नाश्ते के नाम बिस्किट का एक पैकेट, चाय और खाने में आठ पूड़ी और सब्जी व बेसन का एक लडडू दिया जा रहा है। सरकार ने कैंप में आने वाले एक बच्चे के लिए खाने व नाश्ते के लिए 100 रुपए निर्धारित किए हुए हैं।

इसमें यदि उनके साथ अभिभावक आते हैं तो उनके लिए व्यवस्था अलग से होगी जिसका भुगतान सरकार द्वारा ही किया जाएगा। दैनिक भास्कर ने मामले की समानान्तर पड़ताल की तो सामने आया कि जो नाश्ता व खाना इन दिव्यांग बच्चों व उनके अभिभावकों को दिया जा रहा है उसकी बाजार में कीमत लगभग 35 से 40 रुपए के बीच ही है।

मतलब लगभग दुगनी कीमतों पर टेंडर देने के पीछे अधिकारियों की क्या मंशा रही। भास्कर ने जब समसा के अतिरिक्त जिला परियोजना समन्वयक चाणक्य लाल से बात करना चाहा तो उन्होंने फोन नहीं उठाया। उन्हें वाटसअप संदेश के माध्यम से भी बताया, लेकिन कोई जवाब नहीं मिला। यही स्थिति मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी वीरेंद्र यादव की रही।

इनसे भी कई बार संपर्क करने की कोशिश की और मैसेज किया, लेकिन कोई जवाब नहीं मिला। दोनों ही जिम्मेदार अधिकारी इस मामले पर कुछ भी बोलने से बचते रहे। यह कैंप पहले यशवंत स्कूल में एसडीएमसी के जरिए कराने की तैयारी थी, लेकिन बाद प्लान को बदल दिया और आदेश कर दिए कि कैंप की तमाम व्यवस्थाएं समसा कार्यालय द्वारा की जाएंगी स्कूल की सिर्फ जगह का ही इस्तेमाल किया जाएगा। इसके बाद जानबूझकर ऐन वक्त पर अधिकारियों ने वही किया जो उन्हें करना था।

^कल भी मेरे खाने के पैकेट बच गए थे। यह टेंडर मुझे 82 रुपए व जीएसटी अलग से की दर से मिला है। जो कुल करीब 96 रुपए बैठेगा। इसमें नाश्ता व भोजन देना तय हुआ है। संख्या निश्चित तो नहीं बताई, लेकिन उम्मीद है चार दिनों में 800 से ज्यादा को यह भोजन व नाश्ता देना है।
-पवन झाम्ब, टेंडर लेने वाले

चार दिन में 700 से अधिक पैकेट बंटने हैं
राज्य सरकार ने कैंप के लिए प्रतिदिन 100 बच्चों को बुलाने के निर्देश दिए हुए हैं। लेकिन पिछले दो दिनों मंगलवार व बुधवार की बात करें तो मंगलवार को 117 और बुधवार को 122 बच्चों ने कैंप में आकर लाभ लिया है। इसके अलावा प्रत्येक के साथ कम से कम एक व्यक्ति बतौर अभिभावक शामिल हुआ है।

मतलब दो दिन में करीब 500 कैंप में आ चुके हैं और अभी यह कैंप दो दिन और चलेगा। इसमें भी यह संख्या लगभग इतनी ही रहने की उम्मीद है। ऐसे में यदि 1000 लोगों के भोजन व नाश्ते की व्यवस्था भी हो तो साफ है कि जो काम महज 50 हजार तक में हो सकता था उसके लिए करीब 1 लाख रु. दिए जाएंगे। कैंप के आयोजन के लिए 15 हजार रु. प्रतिदिन टेंट, 5 हजार रु. फोटोग्राफी पूरे कैंप के लिए, बच्चों के आने-जाने का किराया देना निर्धारित किया है। अलवर में कैंप के लिए 6 लाख से अधिक का बजट आवंटित हुआ है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज जीवन में कोई अप्रत्याशित बदलाव आएगा। उसे स्वीकारना आपके लिए भाग्योदय दायक रहेगा। परिवार से संबंधित किसी महत्वपूर्ण मुद्दे पर विचार विमर्श में आपकी सलाह को विशेष सहमति दी जाएगी। नेगेटिव-...

    और पढ़ें