गृह क्लेश से परेशान युवक ने खाया जहर:टैक्सी से घर चला रहा था, कोरोना में कामकाज ठप रहा; अब किया सुसाइड

अलवरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अस्पताल में मृतक के परिजन। - Dainik Bhaskar
अस्पताल में मृतक के परिजन।

अलवर जिले के रैणी के चीमापुरा की झौपड़ी निवासी एक 25 साल के युवक ने जहर खाकर जान दे दी। जो टैक्सी ड्राइवर था। कोरोना में कामकाज ठप रहा। इस कारण गृह क्लेश के कारण घर में ही जहर खा लिया। अस्पताल में दम तोड़ दिया।

मृतक के 3 माह का बच्चा
पुलिस ने बताया कि मृतक भरतलाल पुत्र नानकनाम के तीन माह का बच्चा है। जिसके पास टैक्सी है। खुद ही चलाता था। कोरोना में कामकाज नहीं मिला। परिजनों ने बताया कि टैक्सी भी फाइनेंस पर थी। अब लगातार कामकाज नहीं मिलने से तंगहाल हो गए। जिसके कारण गृहक्लेश भी रहने लगा। संभवतया इस कारण युवक ने जहर खाकर जीवन लीला समाप्त कर ली।

चीमापुरा की झौपड़ी रैणी
भरतलाल मीणा पुत्र नानकराम के तीन माह का बच्चा है। टैक्सी ड्राइवर। लॉकडाउन में टैक्सी का धंधा नहीं मिला। तंगहाली के कारण गृहक्लेश रहने लगा। जिससे तंग आकर जहर खा लिया। पुलिस ने बताया कि परिजनों ने पुलिस को बाद में सूचना दी। जब जहर खा लिया तब उसे अस्पताल लेकर आए। रैणी से अलवर रैफर कर दिया था। अलवर में इलाज के दौरान मौत हो गई। पुलिस ने पोस्टमार्टम कराकर शव परिजनों को सौंप दिया है।

खबरें और भी हैं...