पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लापरवाही:वैक्सीन का 10 का ग्रुप फिर अधूरा, दूसरे दिन की सूची से नहीं बुलाए, 23 डोज और खराब

डूंगरपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • मेडिकल कॉलेज अस्पताल में 8, आसपुर में 6 और बिछीवाड़ा में 9 डोज खराब

कोविड-19 वैक्सीनेशन के दौरान वैक्सीन डोज को डैमेज होने से बचाने के लिए सरकार ने सख्त आदेश दिए हैं, बावजूद इसके जिला चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग गंभीर नजर नहीं आ रहा है। शुक्रवार को जिले के चार चिकित्सा संस्थानों पर 23 डोज डैमेज कर दी। जबकि शुक्रवार को वैक्सीन का चौथा दिन था। मेडिकल कॉलेज अस्पताल में 8, आसपुर सीएचसी पर 6, बिछीवाड़ा सीएचसी पर सबसे अधिक 9 डोज डैमेज की गई।

गामड़ी अहाड़ा सीएचसी पर चिकित्साकर्मियों की संख्या 30 रहने से कोई डोज डैमेज नहीं हुई। बताया गया है कि शुक्रवार को मेडिकल कॉलेज अस्पताल में 52 चिकित्साकर्मी आने से 8 डोज, आसपुर सीएचसी पर 34 चिकित्साकर्मी आने से 6 डोज, बिछीवाड़ा सीएचसी पर 31 चिकित्साकर्मी को वैक्सीन लगाने से 9 डोज डैमेज हुई।

वैक्सीन डोज को डैमेज होने से बचाने के लिए राज्य सरकार ने सभी जिलों को सख्त निर्देश दिए है कि अगर किसी सेंटर पर वैक्सीन के लिए लोगों की संख्या 10 के गुणा में नहीं आ रहे हैं तो वैक्सीन बाउल को नहीं खोला जाए।

अगर 10 के गुणा के बाद चिकित्साकर्मी शेष बचते हैं तो दूसरे दिन की लिस्ट में से इनको बुलाकर इस संख्या को पूरा किया जाए। शुक्रवार को जिले के चार सेंटरों मेडिकल कॉलेज अस्पताल, सीएचसी आसपुर, सीएचसी बिछीवाड़ा व सीएचसी गामड़ी अहाड़ा पर वैक्सीनेशन शुरू किया गया और शाम को जब आंकड़े आए तो इन चारों सेंटरों पर कुल 147 चिकित्साकर्मियों को 147 डोज लगाई, लेकिन 23 डोज डैमेज कर दी।

जिले में 16 जनवरी से अब तक चार दिन में हुए कुल वैक्सीनेशन को देखें तो 1600 लोगों के टारगेट में से 981 को ही वैक्सीन लगा पाए हैं, वहीं 69 डोज डैमेज हो चुकी है।

सरकार ने 1.1 डैमेज फैक्टर से उपलब्ध कराई है वैक्सीन, जबकि डैमेज कई गुना
केन्द्र सरकार ने सभी राज्यों को कोवीशील्ड वैक्सीन की डोज 1.1 डैमेज फैक्टर के अनुसार यानी एक डोज पर 1.1 डोज अतिरिक्त उपलब्ध कराई है। यह डैमेज सिरिंज का है।

जब वैक्सीन लगाने के दौरान डोज को सिरिंज में भरा जाता है तो सिरिंज में से हवा के बुलबुले निकालने के लिए काफी अल्प मात्रा में दवा को सिरिंज की नीडल से बाहर निकालना पड़ता है, जिससे सिरिंज में दवा के साथ पहुंची हवा, कहीं दवा इंजेक्ट करने के दौरान व्यक्ति के शरीर में नहीं चली जाए। क्योंकि अगर ऐसा होता है तो व्यक्ति व्यक्ति के लिए खतरनाक साबित हो सकता है।

इसे देखते हुए सीरम इंस्टीट्यूट ने कोवीशील्ड वैक्सीन की डोज 1.1 डैमेज फैक्टर के साथ उपलब्ध कराई है। यानी कि 100 डोज पर 10 डोज डैमेज फैक्टर की है। लेकिन वैक्सीनेशन सेंटरों पर 10-10 के ग्रुपों में चिकित्साकर्मियों को वैक्सीन न लगाने से डोज डैमेज की जा रही है।

अगर डोज डैमेज के इन दोनों आंकड़ों को जोड़ा जाए तो डूंगरपुर जिले में अब तक के 981 चिकित्साकर्मियों को लगाई वैक्सीन में 98.1 डोज तो 1.1 डैमेज फैक्टर के अनुसार हुई है लेकिन इसकी डोज हमको कंपनी ने उपलब्ध कराई है। इसके अलावा 69 डोज 10-10 का ग्रुप में वैक्सीन लगाने से हुई है।

पूंजपुर पहुंचा वैक्सीन का पहला खेप, चिकित्साकार्मिकों ने की पूजा अर्चना
पूंजपुर. कोविड वैक्सीन का पहला खेप शुक्रवार को आसपुर ब्लॉक के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पूंजपुर में पहुंचा। वैक्सीन के पहुंचने पर चिकित्साकर्मियों ने स्वागत किया। एलएचवी प्रेमलता चौबीसा ने वैक्सीन आइस क्यूब बॉक्स पर मंत्रोचारण के बीच स्वास्तिक बनाकर माल्यार्पण के साथ स्वागत किया। इस अवसर पर डॉ. अशोक यादव, डॉ. मंजीतसिंह, डॉ. शैतानसिंह, डॉ. गौरव गर्ग, डॉ. अमित, रजनीश पंड्या, राजीव शर्मा, पुष्पेन्द्रसिंह, आशीष जैन आदि उपस्थित थे। चिकित्सालय में 180 वैक्सीन के डोज आए हैं।

निर्देशों की पालना नहीं, चाहते तो डैमेज नहीं होती वैक्सीन डोज
वैक्सीन की डोज डैमेज होने से बचाने के लिए हाल ही सरकार ने निर्देश जारी किए हैं कि अगर वैक्सीन लगवाने के लिए 10 के गुना में चिकित्साकर्मी नहीं आ रहे तो ऐसी परिस्थिति में दूसरे दिन की लिस्ट में से चिकित्सा कर्मियों को बुलाया जाए और यह भी संभव न हो तो कोविन ऐप में तत्काल रजिस्ट्रेशन कर 10 का ग्रुप तैयार किया जा सकता है। लेकिन जिला वैक्सीनेशन प्रभारी ने चिकित्सकों को इस तरह के कोई कार्रवाई करने के लिए निर्देशित किया ही नहीं।

जिला वैक्सीनेशन प्रभारी ने डोज डैमेज के आंकड़ों को छिपाने का प्रयास किया
जिला वैक्सीनेशन प्रभारी डॉ. कांतिलाल पलात ने जिले में वैक्सीनेशन के दौरान डैमेज होने वाली कोवीशील्ड वैक्सीन के आंकड़ों को छिपाने के प्रयास शुरू कर दिए हैं। शुक्रवार शाम को इनके द्वारा वैक्सीनेशन के आंकड़े मीडिया को जारी नहीं किए गए। जबकि इससे पूर्व के तीनों दिन के आंकड़े जारी किए गए थे। यहां तक कि इन्होंने मीडिया के फोन उठाना बंद कर दिया। 16 जनवरी को 400 लोगों को वैक्सीन लगनी थी, 372 को ही लगी। वहीं अब शुक्रवार को 147 लोगों वैक्सीन लगाने के बाद 23 डेज बर्बाद कर दी।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां पूर्णतः अनुकूल है। सम्मानजनक स्थितियां बनेंगी। विद्यार्थियों को कैरियर संबंधी किसी समस्या का समाधान मिलने से उत्साह में वृद्धि होगी। आप अपनी किसी कमजोरी पर भी विजय हासिल...

    और पढ़ें