पत्रकारिता के महर्थियों का सम्मान:भीलूड़ा गांव में 12वां श्रीफल पत्रकारिता पुरस्कार समारोह आज

डूंगरपुर22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

पत्रकारिता के क्षेत्र में विशिष्ट कार्य के लिए धार्मिक श्रीफल परिवार के श्रीफल फाउण्डेशन की ओर से प्रतिष्ठित श्रीफल पत्रकारिता पुरस्कार दिया जाता है। इस बार साल 2020 का 12वां श्रीफल पत्रकारिता पुरस्कार समाराेह रविवार काे सुबह 9.30 बजे भीलूड़ा गांव के शांतिनाथ दिगंबर जैन मंदिर में होगा। धार्मिक श्रीफल परिवार के संस्थापक अंतर्मुखी मुनि पूज्य सागर महाराज के सानिध्य में होगा। संस्थान के मनीष बैद, तृष्टि जैन ने बताया कि समारोह में प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के क्षेत्र में काम कर रहे देश के छह पत्रकाराें काे पुरस्कृत किया जाएगा।

इस मौके पर जनसंपर्क सहायक निदेशक सीएम कार्यालय, राजस्थान के तरुण जैन, कन्टेन्ट एडवाइजर दूरदर्शन दिल्ली के कुंदन कुमार श्रीवास्तव, दैनिक भास्कर जयपुर के विशेष संवाददाता आनंद चौधरी, ग्रुप कार्टूनिस्ट अभिषेक तिवारी, धनबाद के डॉ चंदन शर्मा व जयपुर के मोहम्मद शोएब खान काे सम्मानित किया जाएगा। गत वर्ष कोरोना के चलते लॉक डाउन होने से श्रीफल पत्रकारिता पुरस्कार का आयोजन नहीं हो सका था। साल 2020 का श्रीफल पत्रकारिता पुरस्कार समारोह साल 2021 में आयोजित किया जा रहा है।

अायाेजक ने बताया कि आचार्य अभिनंदन स्मृति श्रीफल पत्रकारिता पुरस्कार, अतुल्य सागर स्मृति श्रीफल पत्रकारिता पुरस्कार, चारुकीर्ति भट्टारक स्वामी श्रवणबेलगोला स्मृति श्रीफल पत्रकारिता पुरस्कार, भगवान बाहुबली स्मृति श्रीफल पत्रकारिता पुरस्कार, रत्न अम्मा हेगड़े धर्मस्थल स्मृति श्रीफल पत्रकारिता पुरस्कार दिया जाएगा।

चारित्र चक्रवर्ती अाचार्य शांतिसागर विद्वान पुरस्कार डाॅ श्रेयांस जैन बड़ाेत काे देने की घाेषणा की गई है। उल्लेखनीय है कि श्रीफल पुरस्कार की शुरुआत वर्ष 2009 से हुई, जिसके तहत अब तक 54 पत्रकारों को सम्मानित किया जा चुका है। वहीं इस बार श्रीफल पत्रकारिता पुरस्कार समारोह का आयोजन श्री शांतिनाथ दिगंबर जैन मंदिर भीलूड़ा के सौजन्य से होगा। साल 2009 से श्रीफल पुरस्कार देने का क्रम प्रारम्भ हुआ।

उसके बाद सन् 2011 से भगवान बाहुबली स्मृति पुरस्कार, सन् 2013 से चारूकीर्ति भट्टारक स्वामी, सन् 2015 से अभिनंदन सागर स्मृति पुरस्कार, श्रवणबेलगोला स्मृति पुरस्कार और सन् 2017 से रत्न अम्मा हेगड़े धर्मस्थल स्मृति पुरस्कार देना प्रारम्भ हुआ।

अाज इनकाे मिलेगा पुरस्कार, जानिए, पुरस्कार का आधार

{तरूण कुमार जैन वर्तमान में मुख्यमंत्री कार्यालय जनसम्पर्क विभाग में सहायक निदेशक के ताैर पर पिछले 8 साल से सेवा में है। मीडिया प्रबंधन का कौशल इनकी विशिष्ठता है। कुन्दन कुमार श्रीवास्तव उत्तरप्रदेश के इंदिरापुरम गाजियाबाद के रहने वाले है। पिछले 21 साल से पत्रकारिता के क्षेत्र में कार्यरत है। वर्तमान में दूरदर्शन में कंटेन्ट एडवाइजर के पद पर सेवाएं दे रहे हैं। इससे पहले राज्य सभा टेलिविजन में कंटनेट कंसल्टेंट के पद पर थे। आनंद चौधरी राजस्थान के झुझनूं जिले के भहीन्दा खुर्द गांव के रहने वाले हैं।

यह पत्रकारिता के क्षेत्र में वर्ष 1999 से सक्रिय है। पत्रकारिता के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य करने पर पुरस्कार भी मिले हैं। मोहम्मद शोएब खान जयपुर में प्रधान संवाददाता हैं। शिक्षा, संस्कृति, जलवायु परिवर्तन, विधानसभा, मानवाधिकार उल्लंघन, सोशल मीडिया, युवा, अल्पसंख्यक मुद्दों, जनगणना रिपोर्ट और डेटा-आधारित पत्रकारिता से संबंधित समाचारों को को कवर करते रहे हैं। अभिषेक तिवारी पिछले 35 वर्षों से निरंतर एडिटोरियल कार्टूनिंग के एक्सपर्ट है। राजनैतिक ,सामाजिक विषयों पर धारदार कार्टूनिंग के लिए विख्यात है।

देश के विभिन्न नामी समाचार पत्र - पत्रिकाओं में काम किया। ग्वालियर के जीवाजी विश्वविद्यालय से पोस्ट ग्रेज्युशन पुरातत्व शास्त्र में किया है। डॉ चंदन शर्मा झारखंड के धनबाद में संपादकीय प्रभारी है। शिखर जी से कई स्टोरी देशभर प्रकाशित होती रही है। पत्रकारिता में स्नातकोत्तर माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता विश्वविद्यालय से और डॉक्टरेट की उपाधि राजस्थान विश्वविद्यालय जयपुर से प्राप्त की है।

खबरें और भी हैं...