पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

वैक्सीन का डर:दूसरे चरण में दिया मौका पर 4505 हेल्थवर्करों ने नहीं लगवाई वैक्सीन

डूंगरपुर25 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • टीके से बचने के बहाने भी अजब-गजब, किसी ने कहा- मेरे शरीर में पहले से ही एंटीबॉडी तो किसी ने कहा- मैं कभी बीमार ही नहीं हुआ तो जरूरत नहीं

कोरोना वैक्सीनेशन का दूसरा फेज चला रहा है। प्रथम फेज में रजिस्टर्ड हेल्थ वर्कर्स 12495 में से 4505 ऐसे हैं, जो वैक्सीन लगवाने नहीं आए हैं। सरकार ने इन्हें दूसरे फेज में भी वैक्सीन लगवाने का मौका दिया है। लेकिन दूसरे फेज के दो दिन के वैक्सीनेशन के दौरान एक भी हेल्थ वर्कर नहीं आया है।

इन हेल्थ वर्करों को जब फोन लगाकर वैक्सीन के लिए बुलाया जा रहा है तो अजब-गजब बहाने बनाते हैं। कोई कह रहा है कि पॉजिटिव आने के बाद उसके शरीर में दवाओं से एंटीबॉडी विकसित हो चुकी हैं तथा उसे वैक्सीन की जरूरत नहीं है। तो कोई कह रहा है कि वह कभी बीमार ही नहीं पड़ा है, ऐसे में उसे वैक्सीन नहीं चाहिए।

सीएमएचओ कार्यालय के अनुसार जिले में 16 जनवरी से हेल्थ वर्कर्स का वैक्सीनेशन शुरू किया था। तब से अब तक 12495 हेल्थ वर्कर्स में 7990 ने वैक्सीन लगवाया है। इनमें सरकारी व निजी चिकित्सा संस्थानों का स्टाफ शामिल है। यह संख्या तो उन हेल्थ वर्कर्स की है, जिन्होंने वैक्सीनेशन के लिए स्वेच्छा से रजिस्ट्रेशन कराया था, लेकिन बाद में नहीं आए।

रजिस्ट्रेशन कराने वाले हेल्थ वर्कर्स को बुलाया गया तो सभी के पास अपने-अपने बहाने है। कोई शहर दिन में ड्यूटी टाइम होने से आ नहीं पा रहा है, किसी को बुखार आ रहा है, जैसे तर्क दे रहे हैं।

अजीब गफलत: वैक्सीन से वंचित किस विभाग के कितने कर्मचारी, पता नहीं
जिले में प्रथम चरण में रजिस्टर्ड हेल्थ वर्कर्स की संख्या 12495 हैं। इनमें स्वास्थ्य विभाग और महिला एवं बाल विकास विभाग के कर्मचारी हैं। 7990 कर्मचारियों ने वैक्सीन लगवाई तथा 4505 कर्मचारी ऐसे हैं जिन्होंने वैक्सीन नहीं लगवाई है। वैक्सीन न लगवाने वालों में स्वास्थ्य विभाग और महिला एवं बाल विकास विभाग के कर्मचारी हैं।

अब गफलत यह है कि इन दोनों विभागों के यह आंकड़े मिक्स हो चुके हैं। दोनों विभागों के पास इसके अलग-अलग आंकड़े नहीं किए है कि किस विभाग के कितने कर्मचारी वंचित हैं। हालांकि वैक्सीन के रजिस्ट्रेशन वालों की लिस्ट अलग-अलग बनी थी। लेकिन वैक्सीन लगने के दौरान दोनों विभागों की लिस्ट मिक्स हो गई।

सरकार ने फिर दिया बड़ा मौका, दूसरे फेज में भी वैक्सीन लगवा सकते हैं हेल्थवर्कर्स
सरकार ने हेल्थ वर्करों की स्वास्थ्य सुरक्षा को देखते हुए जहां सबसे पहले वैक्सीन इनको लगाई। वहीं किसी कारणवश वैक्सीन न लगवानों को 3 फरवरी को विशेष दिन भी दिया, लेकिन इस दिन सिर्फ 275 हेल्थ वर्कर ही आए।

विभागीय सूत्रों की मानें तो इस दिन जिले में 17 सेंटरों पर वैक्सीनेशन सेशन रखे गए थे और सबसे ज्यादा महिला एवं बाल विकास विभाग कार्मिक ही आए थे, हेल्थ वर्करों की संख्या कम ही रही थी। अब सरकार ने हेल्थ वर्करों को फिर एक बड़ा मौका दिया है। 4 फरवरी से दूसरा फेज शुरू हो चुका है। हेल्थ वर्कर चाहें तो दूसरे फेज में भी वैक्सीन लगवाने आ सकते हैं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थिति आपके लिए बेहतरीन परिस्थितियां बना रही है। व्यक्तिगत और पारिवारिक गतिविधियों के प्रति ज्यादा ध्यान केंद्रित रहेगा। बच्चों की शिक्षा और करियर से संबंधित महत्वपूर्ण कार्य भी आ...

    और पढ़ें