विवाद:वीडियो जारी करने, दबाव बनाने, आत्महत्या करने की धमकियां देने पर 7 लोगों पर केस

डूंगरपुरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • बिना अनुमति कांकरी डूंगरी पर प्रदर्शन करने वालों पर कार्रवाई शुरू

नेशनल हाइवे पर भुवाली गांव के पास कांकरी डूंगरी पर पिछले 10 दिन से पड़ाव डाल कर प्रशासन पर दबाव बनाने का प्रयास करने, वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर प्रसारित करने, आत्महत्या करने की धमकियां देने के मामले में बिछीवाड़ा पुलिस ने आईटी एक्ट एवं गैर जमानती धाराओं में सात नामजद समेत कई जनों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

जांच महिला पुलिस थानाधिकारी पूरणमल मीणा को दी गई है। दरअसल, 16 सितंबर की शाम 4 बजे बिछीवाड़ा थानाधिकारी इंद्रजीत परमार, डूंगरपुर तहसीलदार संजय चरपोटा धरना स्थल पहाड़ी से अभ्यर्थियों को हटने के संबंध में नोटिस देने पहुंचे तो अभ्यर्थियों ने नोटिस लेने से

इनकार कर दिया। इस पर थानाधिकारी ने अभ्यर्थियों को बताया कि यह पड़ाव अवैधानिक है, मगर अभ्यर्थी नहीं माने और नोटिस लेने से इनकार करते हुए बोले कि हमारी मांगे जब तक पूरी नहीं होगी। तब तक यहां से नहीं हटेंगे। इस दौरान यहां मौजूद चार महिला अभ्यर्थियों ने पेड़ों से बांधी हुई एक रस्सी से फंदा बनाकर अपने गले में लटका कर धमकियां दी कि यदि यहां से जबरन हटाने का प्रयास किया तो जान दे देंगे। प्रशासन पर

दबाव बनाने के लिए अभ्यर्थियों ने अपने साथियों को आत्महत्या के लिए उकसाया। इस घटना का वीडियो बनाकर अपनी मांगों के लिए दबाव बनाने प्रसारित किया। मीनाक्षी डामोर, मेवा मीणा, रेखा मीणा, कमलेश कलासुआ निवासी विराट, कमलेश घाटिया निवासी तलैया, देवल निवासी महेश मनात, नरेंद्र मनात व इनके साथ करीब 150—200 लोग मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...