स्वच्छ टेक्नोलॉजी:स्वच्छ सर्वेक्षण के पहले होंगी स्वच्छ टेक्नोलॉजी स्पर्धा

डूंगरपुर11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

डूंगरपुर। स्वच्छता के मामले में देशभर नई पहल हो रही है। केंद्र सरकार की ओर से हर साल स्वच्छता सर्वेक्षण के जरिए नगर निकायों में साफ-सफाई को लेकर प्रतिस्पर्धा बढ़ा रही है। इस साल भी सरकार ने स्वच्छता सर्वेक्षण 2022 का आगाज कर दिया है। इससे पहले सरकार पहली बार सर्वेक्षण में नगर निकायों के बीच स्वच्छ टेक्नोलॉजी चैलेंज प्रतियोगिता कराने जा रही है। इसमें प्रतियोगिता की क्रियान्विति के आधार पर नगर निकायों को स्वच्छ सर्वेक्षण में इसके अलग से अंक दिए जाएंगे। इस चैलेंज के तहत नगर निकायों को कमेटी गठन से लेकर स्वच्छता को लेकर जागरूकता बढ़ाने समेत कई कार्य करने होंगे। इनके अलग-अलग अंक मिलेंगे। प्रथम स्थान पर आने वाले जिले को 5 लाख, दूसरे को 2.50 लाख, तीस को 1.50 लाख, चौथे को 1 लाख व पांचवें स्थान पर रहने वाले जिले को 75 हजार नकद इनाम मिलेगा।

वेटनरी चिकित्सकों को प्रशिक्षण में दी जानकारी डूंगरपुर| जिला बहुउद्देशीय पशु चिकित्सालय में दो दिवसीय बांझपन निवारण कार्यशाला का आयोजन किया। इसमें जिले के 100 विभागीय अधिकारी व कर्मचारियों को क्षेत्रीय अतिरिक्त निदेशक पशुपालन विभाग डॉ. भूपेन्द्र भारद्वाज व संयुक्त निदेशक पशुपालन विभाग डूंगरपुर डॉ. उपेंद्र सिंह महलावत ने प्रशिक्षण दिया। जिले में टाडा याेजना में बांझपन निवारण शिविरों का आयोजन किय जाना प्रस्तावित है।

खबरें और भी हैं...