पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जिले की विभागवार समीक्षा बैठक:संभागीय आयुक्त ने मानसून से पहले सभी विभाग काे अलर्ट हाेने के निर्देश

डूंगरपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
संभागीय आयुक्त अधिकारियाें के साथ समीक्षा बैठक लेते हुए। - Dainik Bhaskar
संभागीय आयुक्त अधिकारियाें के साथ समीक्षा बैठक लेते हुए।
  • चिकित्सकीय विभाग काे काेराेना काे लेकर तैयारियों पर विशेष फाेकस किया

जिले के प्रभारी सचिव व उदयपुर संभागीय आयुक्त ने शुक्रवार काे जिले की विभागवार समीक्षा बैठक ली। इस बार नवाचार करते हुए सारे अधिकारियों काे बुलाने की जगह प्रत्येक विभाग का अलग-अलग समय निर्धारित करते हुए बुलाया।

चिकित्सा विभाग: भट्ट ने शुरुआत चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ ही। जिसमें कोरोना संक्रमण की स्थितियों व चिकित्सकीय संसाधनों की आवश्यकता, तीसरी लहर की संभावना के मद्देनजर पूर्व से ही ऑक्सीजन, वेंटिलेटर, बेड एवं अन्य आवश्यक चिकित्सकीय संसाधनों की पूर्ण तैयारियां रखने के निर्देश दिए हैं। निजी चिकित्सालयों के पास ऑक्सीजन व्यवस्थाएं ठीक करने की बात कही।

जिला परिषद: पंचायत राज एवं ग्रामीण विभाग की समीक्षा के दौरान सीईओ अंजलि राजोरिया ने प्रधानमंत्री आवास योजना में जिला राज्य में प्रथम और देश में दूसरे स्थान पर आने की जानकारी दी। संभागीय आयुक्त ने जिन ग्राम पंचायतों में न्यून प्रगति है, उस पर फोकस कर बेहतर प्रयास करने की बात भी कही।

समाज कल्याण: संभागीय आयुक्त भट्ट ने याेजनाओं के लाभार्थियों को एसएमएस पर सूचना देकर तथा संस्था में नोटिस लगाकर प्रचार करते हुए संबंधित प्रिंसिपल को जिम्मेदारी सौंपते हुए अगली मीटिंग से पूर्व निस्तारण के निर्देश दिए।

पीडब्ल्यूडी: भट्ट ने माही अनास नदी पर संगमेश्वर चिखली पुल, बांसवाड़ा डूंगरपुर बोरेश्वर पुल, सिलोही नीलकण्ठ महादेव वान्दरवेद मोरन नदी पर पुल निर्माण, बेणेश्वर धाम माही नदी पर हाई लेवल पुल निर्माण कार्य के बारे में पीडब्ल्यूडी अधिकारी से जानकारी ली। संभागीय आयुक्त भट्ट ने बरसात से पूर्व समस्त पुलिया पर झाडिय़ां साफ-सफाई करवाने, साइन बोर्ड लगवाने के निर्दाेष दिए।

पीएचईडी विभाग: ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्र में पेयजल वितरण की निर्बाध आपूर्ति, हैंडपंप की स्थिति की जानकारी ली। पीएचईडी अधिकारी ने जल जीवन कार्यक्रम, बेणेश्वर एनिकट से सागवाड़ा एवं साबला पंचायत के गांवों को पेयजल योजना से जोड़ने व चिखली, सीमलवाड़ा एवं झौंथरी पंचायतों के 289 गावों को कड़ाणा बेक वाटर से जोड़ने का सर्वे करने की स्वीकृति जारी करने की जानकारी दी।

डिस्काॅम: बिजली विभाग में कुसुम योजना, सौभाग्य योजना, जीएसएस की जानकारी लेते मानसून को ध्यान में रखते पूर्व तैयारी रखने, नीचे स्तर पर कार्मिकों की प्रभावी मॉनिटरिंग, ढीले तारों, पोल को सही करने के निर्देश दिए।
प्रभारी सचिव एवं संभागीय आयुक्त भट्ट ने क्रमवार रसद विभाग, वन विभाग, जल संसाधन, महिला एवं बाल विकास विभाग, कृषि विभाग, सहकारिता विभाग आदि के बारे में देर शाम तक जानकारी लेते हुए निर्देश प्रदान किए। बैठक के दौरान अतिरिक्त जिला कलक्टर कृष्णपाल सिंह चौहान, समस्त विभाग के संबंधित अधिकारीगण मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...