पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मोर्चरी:नदी में मिले शव पर परिजनों ने जताई हत्या की आशंका,अहमदाबाद से डूंगरपुर मोर्चरी पहुंचे परिजन, थाना का मामला

डूंगरपुर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

थाणा गांव में नदी में संदिग्ध अवस्था में मिले 28 वर्षीय जितेंद्र मेघवाल के शव मिलने के मामले में परिजनों ने हत्या की आशंका जताते हुए निष्पक्ष जांच की मांग की है। बुधवार को कोतवाली पुलिस ने मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम कराया। इसके बाद शव परिजनों को सुपुर्द कर दिया है। परिजनों ने पुलिस को बताया कि 15 दिन पहले जितेेंद्र नौ​करी जाने के लिए​ निकला था। इसके बाद वापस नहीं लौटा। आसपास तलाश करने पर भी

जितेंद्र के बारे में कोई पता नहीं चल पाया। इस पर अहमदाबाद के ​मणिनगर थाने में गुमशुदा होने की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। अब कोतवाली थाना क्षेत्र की सीमा में शव मिलने से परिजनों ने हत्या की आशंका जताते हुए निष्पक्ष जांच की मांग की। इस पर हैड कांस्टेबल शिशुपाल सिंह ने परिजनों से रिपोर्ट लेकर मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम कराया है।

यह था मामला: दरअसल, बुधवार को थाणा गांव में नदी में युवक का मिला था। पुलिस ने शव के पास मिले मोबाइल से इसकी शिनाख्त नयागांव खेरवाड़ा हाल अहमदाबाद निवासी 28 वर्षीय जितेंद्र पुत्र बंशीलाल मेघवाल के रूप में की। शव को डूंगरपुर मेडिकल कॉलेज अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया। शव दो से तीन पुराना लगा।

पुलिस मृतक के मोबाइल के जरिए भी अनुसंधान कर रही है।थाणा गांव में नदी में संदिग्ध अवस्था में मिले युवक की पुलिस ने मंगलवार को शिनाख्त की थी। इस मामले की निष्पक्ष जांच करने की मांग को लेकर डॉक्टर बीआर अंबेडकर मेघवाज समाज परगना ने जिला कलेक्टर व एसपी को ज्ञापन दिया। ज्ञापन में बताया कि जितेंद्र मेघवाल पिछले 15 दिन से लापता था।

इसकी गुमशुदगी रिपोर्ट अहमदाबाद मणिनगर थाने में दर्ज कराई थी। मंगलवार को शव की शिनाख्त नयागांव खेरवाड़ा हाल अहमदाबाद निवासी जितेंद्र के रुप में हुई। ऐसे में जितेंद्र की मौत मामले की जांच कराने की मांग की है। इस दौरान समाज के संरक्षक नटवरलाल यादव घुघरा, युवा संगठन अध्यक्ष सुखदेव यादव पुनाली, उपाध्यक्ष सुनील यादव रामपुर, नरेश यादव, खडक क्षेत्र उपाध्यक्ष जयेंद्र यादव रामपुर, खेरवाड़ा व ऋषभदेव के उपाध्यक्ष मोहनलाल मेघवाल, धनराज मेघवाल, नारुलाल, सूरजमल, मनसुखराम, चंदुलाल मेघवाल आदि मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...