करंट लगने से किसान की मौत:खेत में गेहूं की फसल को पानी पिलाने गया था युवक, मोटर चालू करते समय लगा झटका

डूंगरपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
किसान की मौत के बाद पंचनामा की कार्रवाई करते हुए पुलिसकर्मी। - Dainik Bhaskar
किसान की मौत के बाद पंचनामा की कार्रवाई करते हुए पुलिसकर्मी।

खेतों में गेहूं की फसल को पानी पिलाने गए एक किसान की मोटर चालू करते समय करंट आने से मौत हो गई। करंट का झटका लगने पर किसान चिल्लाया तो आसपास के खेतों में काम कर रहे लोग दौड़कर मौके पर आए। यहां किसान बेहोशी की हालत में मिला। इसके बाद परिजनों को सूचना दी गई। परिजन किसान को डूंगरपुर अस्पताल लेकर पहुंचे। जहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया।

दोवड़ा थाने के हेड कांस्टेबल सुरेश कुमार ने बताया कि मसाणिया निवासी दिनेश परमार (34) पुत्र प्रेमजी परमार खेतीबाड़ी का काम करता है। सोमवार देर शाम दिनेश खेतों में गेहूं की फसल को पानी पिलाने गया था। इस दौरान पानी की मोटर चालू करते समय उसे बिजली का करंट लगा तो वह चिल्लाते हुए नीचे गिर पड़ा। आवाज सुनकर पास के खेतों में काम कर रहे लोग मौके पर आए, तो वह बेहोश मिला।

घटना की सूचना पर दोवड़ा थाने से हेड कॉन्स्टेबल सुरेश कुमार और कॉन्स्टेबल रणछोड़ हॉस्पिटल पहुंचे और घटना की जानकारी ली। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सौंप दी। भाई राकेश ने करंट लगने से मौत की रिपोर्ट दर्ज करवाई है। मृतक दिनेश परमार के एक बेटा और एक बेटी है। किसान की मौत से दोनों बच्चों के सिर से पिता का साया उठ गया। मौत के बाद इन बच्चों की जिम्मेदारी अब मां पर आ गई है।