पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

धर्म-कर्म:चैत्र नवरात्र 13 से, घोड़े पर सवार होकर आएगी मां

डूंगरपुर12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 21 अप्रैल को मनेगी रामनवमी, 13 को चेटीचंड और गुड़ी पड़वा, जिले में होंगे धार्मिक आयोजन

चैत्र शुक्ल प्रतिपदा 13 अप्रैल को है। इस दिन घर-घर घट स्थापना के साथ चैत्र नवरात्र शुरू हो जाएंगे। जिले के सभी प्रमुख मंदिरों में सप्तशती पाठ और मंत्र जाप होंगे। मंगलवार से आरंभ हो रहे नवरात्र में इस बार मां दुर्गा का आगमन अश्व यानि घोड़े पर होगा। ज्योतिषाचार्य भवानी खंडेलवाल के अनुसार नवरात्र की प्रमुख तिथियों में गणगौर पूजा 15 अप्रैल, दुर्गाष्टमी 20 अप्रैल एवं श्रीरामनवमी 21 अप्रैल को होगी।

नवरात्र के दौरान मांग दुर्गा के अलग अलग स्वरूपों शैलपुत्री, ब्रह्माचारिणी, चंद्रघंटा,कुष्मांडा, स्कंदमाता, कात्यायनी, कालरात्रि, महागौरी और सिद्धिदात्री की नौ दिन पूजा-अर्चना की जाती है। देवी भागवत पुराण में सप्ताह के सातों दिनों के अनुसार देवी के आगमन का अलग अलग वाहन बताया गया है।

अगर नवरात्र का आरंभ सोमवार या रविवार को हो तो माता हाथी पर, शनिवार और मंगलवार को होने पर मां दुर्गा अश्व यानी घोड़े पर सवार होकर आती है। गुरुवार या शुक्रवार को माता डोली पर और बुधवार के दिन नवरात्र पूजा आरंभ होने पर माता नाव पर आरुढ़ होकर आती है।

नवरात्रि की समाप्ति बुधवार को होने पर मांग दुर्गा हाथी पर सवार होकर जाती है तो उस वर्ष वर्षा के अधिक होने का योग बनता है। ज्योतिषियों के अनुसार देवी का अश्व पर आगमन वैसे तो युद्ध का प्रतीक होने से शासन और सत्ता के लिए हानिकारक होता है, लेकिन आद्य शक्ति साधकों के जीवन में अश्व की गति के सामान सफलता प्राप्त मिलती है।

घट स्थापना के लिए शुभ समय

  • मेष लग्न (चर लग्न): सुबह 6.02 से 7.30 बजे तक
  • वृषभ लग्न(स्थिर ल्गन): सुबह 7.30 से 9.34 बजे तक
  • अभिजित मुहूर्त: मध्याह्न 11.56 से 12.47 बजे तक
  • सिंह लग्न(स्थिर लग्न): दोपहर 2.07 से 4.25 बजे तक रहेगा।

चैत्र नवरात्र की तिथियां

  • 13 अप्रैल- नवरात्र प्रतिपदा-मां शैलपुत्री पूजा और घटस्थापना
  • 14 अप्रैल-नवरात्र द्वितीया- मां ब्रह्मचारिणी पूजा
  • 15 अप्रैल- नवरात्र तृतीया- मां चंद्रघंटा पूजा
  • 16 अप्रैल- नवरात्र चतुर्थी- मां कुष्मांडा पूजा
  • 17 अप्रैल- नवरात्र पंचमी- मां स्कंदमाता पूजा
  • 18 अप्रैल- नवरात्र षष्ठी- मां कात्यायनी पूजा
  • 19 अप्रैल- नवरात्र सप्तमी- मां कालरात्रि पूजा
  • 20 अप्रैल- नवरात्र अष्टमी- मां महागौरी
  • 21 अप्रैल- नवरात्र नवमी- मां सिद्धिदात्री, रामनवमी
  • 22 अप्रैल- नवरात्र दशमी- नवरात्र व्रत पारणा
खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- कहीं इन्वेस्टमेंट करने के लिए समय उत्तम है, लेकिन किसी अनुभवी व्यक्ति का मार्गदर्शन अवश्य लें। धार्मिक तथा आध्यात्मिक गतिविधियों में भी आपका विशेष योगदान रहेगा। किसी नजदीकी संबंधी द्वारा शुभ ...

    और पढ़ें