• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Banswara
  • Dungarpur
  • Left Sleeping With The Children And Went To The Shop To Get Milk, When She Returned After 15 Minutes, Her Husband Was Found Hanging, Died By The Time She Took Her To The Hospital.

पत्नी दूध लेने गई पीछे से पति ने किया सुसाइड:बच्चों के साथ सोता हुआ छोड़कर दुकान पर दूध लेने गई थी,15 मिनट बाद लौटी तो पति फंदे पर लटका मिला,अस्पताल लेकर गए तब तक हो गई मौत

डूंगरपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
डेढ़ साल के बेटे को गोद में लेकर बैठी मृतक की पत्नी और पास में बैठी सरपंच भाभी संगीता। - Dainik Bhaskar
डेढ़ साल के बेटे को गोद में लेकर बैठी मृतक की पत्नी और पास में बैठी सरपंच भाभी संगीता।

कोतवाली थाना क्षेत्र में युवक घर में साड़ी से फंदा लगाकर सुसाइड कर लिया। आज सुबह करीब साढ़े 5 बजे पत्नी उठी तब वह बच्चों के साथ सो रहा था। घर से कुछ दूरी पर ऐक दुकान में दूध ले गई। 15 मिनट में वापस आई तो होश उड़ गए। पति साड़ी के फंदे से लटका मिला। चीख-पुकार सुनकर आस-पास के लोग आए और फंदे से उतारकर अस्पताल लेकर गए। तब तक मौत हो चुकी थी। शव को डूंगरपुर मेडिकल कॉलेज अस्पताल के मुर्दाघर में रखवाया गया है। एसआई रामस्वरूप मौके पर पहुंचे और घटना की जानकारी ली। परिजनों की ओर से अभी तक रिपोर्ट नहीं दी गई है।

घटना को लेकर जानकारी लेते कोतवाली थाना एसआई रामस्वरूप।
घटना को लेकर जानकारी लेते कोतवाली थाना एसआई रामस्वरूप।

चीख-पुकार सुनकर आस-पास के लोग आए
कोतवाली थाना क्षेत्र के बोरी ग्राम पंचायत में रहने वाला महेंद्र खराड़ी (35) उसकी पत्नी रेखा और चार बच्चे मंगलवार रात खाना खाने के बाद सो गए थे। बुधवार सुबह करीब साढ़े 5 बजे महेंद्र की पत्नी रेखा उठी। तब पति और बच्चे सो रहे थे। इसके बाद पत्नी घर से कुछ दूर एक दुकान पर दूध लेने के लिए चली गई। करीब 15 मिनट बाद वापस लौटी तो पति महेंद्र घर में लकड़ी के पाट से साड़ी का फंदा लगाकर लटका हुआ था। इसे देख पत्नी के होश उड़ गए और चीखने-चिल्लाने लगी। रेखा की आवाज सुन पास में ही रहने वाली जेठानी सरपंच संगीता व उसका परिवार समेत गांव के लोग दौड़ आ गए। युवक को फंदे से नीचे उतारकर डूंगरपुर जिला अस्पताल लेकर गए। डॉक्टर ने जांच के बाद मृत घोषित कर दिया। मृतक अकेला घर में कमाने वाला था। उसके चार बच्चों नेहा,तुषार,किंजल और किशन के सिर से पिता का साया उठ गया।

खबरें और भी हैं...