पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

रीट 26 को:जिले के करीब 170 केंद्रों पर शामिल होंगे 37 हजार से अधिक अभ्यर्थी

डूंगरपुर12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 23 को जिला प्रशासन के पास आएगा रीट का पेपर, तीन दिन तक पुलिस सायबर सेल, इंटेलीजेंस के अधिकारी आदि करेंगे निगरानी
  • डूंगरपुर के इतिहास में इतने अधिक अभ्यर्थी पहली बार आएंगे, खाने और सुरक्षा की जिम्मेदारी बड़ी चुनौती होगी

26 सितंबर को जिले में रीट परीक्षा यानी राजस्थान अध्यापक पात्रता परीक्षा एक तरह से यहां के लिए महाकुंभ से कम नहीं है। डूंगरपुर के इतिहास में पहली बार है जब 37 हजार अभ्यर्थी किसी परीक्षा में शामिल होंगे। इसके लिए जिलेभर में 170 केन्द्र बनाए हैं। इसमें 40 केन्द्र निजी स्कूलों में हैं।

रीट परीक्षा के महाकुंभ को सुव्यवस्थित तरीके से संपन्न कराने के लिए जिला प्रशासन, जिला शिक्षा विभाग अभी से ही बड़े स्तर पर तैयारियों में जुटे हैं। प्रत्येक केन्द्र की पुख्ता मॉनिटरिंग के साथ ही कोविड-19 गाइडलाइन के बीच परीक्षार्थियों की स्वास्थ्य सुरक्षा बड़ी चुनौती है। 23 सितंबर को रीट के पेपर जिला प्रशासन को उपलब्ध हो जाएंगे। पेपर लीक न हो, इसके लिए कड़ी सुरक्षा के प्रबंध अभी से किए हैं।

पेपर कहां रखे जाएंगे और इसकी सुरक्षा किन-किन अधिकारियों के हाथ में रहेगी, यह पूरी तरह से गोपनीय रखा गया है। बस इतना पता चला है कि पेपर की सुरक्षा और केन्द्रों पर नकल या फिर सेटिंगबाजों पर नजर रखने के लिए पुलिस की सायबर सेल, इंटेलीजेंस ब्यूरो तक के अधिकारियों को इसमें शामिल किया है।

बता दें, इससे पूर्व 2018 में रीट परीक्षा हुई थी, तब करीब 23 हजार अभ्यर्थी जिले में आए थे। उस समय जिला प्रशासन को तैयारियों को लेकर काफी मशक्कत करनी पड़ी थी। इस बार प्रदेशभर से 16 लाख से अधिक अभ्यर्थी बैठेंगे। 4153 केंद्रों पर दो पारियों में परीक्षा देंगे। गृह विभाग की ओर से जारी कोविड गाइडलाइन के तहत छात्रों की बैठक व्यवस्था की जाएगी।

अभ्यर्थी 16 से ऑनलाइन प्राप्त कर सकेंगे प्रवेश पत्र और 1.15 घंटा पहले खुलेगा केन्द्र, आधा घंटा पहले प्रवेश बंद

जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक अमृतलाल कलाल के अनुसार संभवतया अभ्यर्थियों को 16 सितंबर से विभाग की वेबसाइट से ऑनलाइन प्रवेश पत्र मिलना शुरू हो जाएंगे। पहली रीट लेवल-2 (कक्षा 6 से 8) पहली पारी में सुबह 10 से 12.30 बजे तक रहेगी। इसमें अभ्यर्थियों को सुबह 8.45 बजे से प्रवेश शुरू कर दिया जाएगा।

लेवल-1 (पहली से 5वीं) तक की परीक्षा दोपहर 2.30 से शाम 6 बजे तक होगी, इसमें दोपहर 1.15 से प्रवेश शुरू कर दिया जाएगा। परीक्षा शुरू होने के एक घंटा पहले परीक्षा केन्द्र खुलते ही अभ्यर्थियों का प्रवेश शुरू हो जाएगा। पेपर शुरू होने के आधा घंटा पहले प्रवेश बंद हो जाएगा। तय समय से देरी से पहुंचने पर अभ्यर्थियों को प्रवेश नहीं दिया जाएगा। एग्जाम सेंटर पर थर्मल स्कैनिंग, मास्क, सेनेटाइजर व सोशल डिस्टेंसिंग, पुलिसकर्मियों की व्यवस्था की जाएगी। अभ्यर्थियों को सेंटर पर करीब एक घंटे पहले पहुंचना होगा।

नकल रोकने, कराने वालों पर कड़ी निगरानी, दो घंटे पहले इंटरनेट बंद होगा, वीडियोग्राफी होगी

रीट की परीक्षा के दौरान सभी केन्द्रों पर नकल रोकने और कराने वालों पर कड़ी निगरानी रहेगी। इसके लिए सबसे पहला काम यह होगा कि परीक्षा केन्द्र पर पेपर पहुंचने के दो घंटे पहले उस क्षेत्र में जैमर की सहायता से मोबाइल नेटवर्क टॉवरों से सिग्नलों को जाम किया जाएगा।

जिससे परीक्षा केन्द्र के अंदर कोई भी व्यक्ति मोबाइल इंटरनेट का उपयोग न कर सके, दूसरा बड़ा काम परीक्षा वाले दिन परीक्षा केंद्र पर कक्षाओं, कोचिंग या हॉस्टल का संचालन भी नहीं होगा। संवेदनशील और अति संवेदनशील परीक्षा केंद्रों में वीडियोग्राफी होगी। निजी स्कूलों में परीक्षा केंद्रों में आधे पर्यवेक्षक सरकारी होंगे और सुपरवाइजर का काम भी सरकारी कार्मिक ही करेंगे।

परीक्षा में जिले के ही परीक्षार्थी आएंगे या फिर बाहर से भी शामिल होंगे, कन्फर्म नहीं, कंट्रोलरूम से मिलेगी परीक्षार्थियों को सहायता

परीक्षा में शामिल होने वाले परीक्षार्थी जिले के अंदर ही रहेंगे या फिर दूसरे जिलों से भी आएंगे, अभी फिलहाल इस बारे में कुछ नहीं कहा जा सकता है। 16 सितंबर को प्रवेश पत्र वितरित होने के बाद इसका खुलासा होगा। परीक्षार्थियों की किसी भी प्रकार परेशानी के लिए 20 सितंबर से बोर्ड कार्यालय में केंद्रीय कंट्रोल रूम शुरू होगा, जो 22 सितंबर तक सुबह 10 से शाम 6 बजे तक और 23 सितंबर से 27 सितंबर तक सुबह 8 बजे से रात 10 बजे तक चालू रहेगा। हर जिले में अलग से जिला कंट्रोल रूम भी बनाया गया है। जहां से केंद्रों की मॉनिटरिंग की जाएगी।

खबरें और भी हैं...