पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

डूंगरपुर उपद्रव मामला:साहब! सब कुछ जला दिया, उपद्रवियों काे छाेड़ना मत, निर्दोषों को बचाना

डूंगरपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • गृह सचिव मीणा ने की डूंगरपुर उपद्रव की सुनवाई, पीड़िताें ने फाेटाे, ऑडियो-वीडियाे के सबूत सौंपे

नेशनल हाईवे आठ पर शिक्षक भर्ती 2018 में अनारक्षित वर्ग की रिक्त 1167 सीटाें काे अनुसूचित जनजाति काे देने की मांग काे लेकर हुए उपद्रव की जांच के लिए गृह सचिव ने शनिवार काे सर्किट हाऊस में परिवेदना सुनी।

राजस्थान सरकार की ओर से विशेष रूप से दाे दिन की जांच के तहत गृह सचिव एनएल मीना ने उपद्रव से जुड़े सभी लाेगाें की बाते सुनते हुए बयान लिए। मूल अधिकार रक्षा मंच से जुड़े दाे लाेगाें ने बंद कमरे में अपने बयान दिए। जहां पर उपद्रव काे लेकर गृह सचिव ने सभी वर्ग, समुदाय, राजनीतिक दलाें, संगठनाें के साथ विस्तृत चर्चा की।

लाेगाें ने गृह सचिव एनएल मीणा के समक्ष ज्ञापन और बयान के साथ अपना पक्ष रखा। डूंगरपुर, खेरवाड़ा, उदयपुर, केसरीयाजी, प्रतापगढ़ और बांसवाड़ा के 52 लाेग पहुंचे। मूल अधिकार रक्षा मंच, वागड़ क्षत्रिय महासभा, मजदूर हक संगठन खेरवाड़ा और जन पंचायत खेरवाड़ा के प्रतिनिधि मंडल, राजस्थान वनवासी कल्याण परिषद, अखिल भारतीय ब्राह्मण महासभा, भारतीय जनता पार्टी के शिष्ट मण्डल और आदिवासी विकास परिषद ने प्रमुखता से अपनी मांगे रखी।

सुनवाई में एडीएम कृष्णपालसिंह, सीईओ दीपेंद्रसिंह राठाैड़ भी उपस्थित थे। देर शाम काे उन्हाेंने माेतली माेड़ से बिछीवाड़ा तक हाईवे का दाैरा किया। जहां पर व्यापारियाें की हाेटल की ताेड़-फाेड़, आगजनी, गाड़ियाें की आगजनी, श्रीनाथ काॅलाेनी में टूट मकान और खिड़िकिया, कांकरी डूंगरी लाेकेशन देखी अाैर बिछीवाड़ा के व्यापारियाें से चर्चा की।

हमने जिन्हें खिलाया, उन्हीं ने हमें लूटकर बर्बाद कर दिया

हाेटल नीलगगन के मनिंदर, हाेटल अतिथि पैलेस के मदनसिंह सहित करीब एक दर्जन हाईवे हाेटल- ढाबाें के व्यापारियाें ने गृह सचिव काे ज्ञापन दिया। मनिंदर ने बताया कि पंजाब से व्यापार के लिए कई साल पहले बिछीवाड़ा पहुंचे थे।

स्थानीय लाेगाें के साथ मिलकर हाेटल का व्यापार करते है। जहां पर करीब 50 से अधिक स्थानीय आदिवासी युवा काे राेजगार दे रखा है। पूरे हाईवे की हाेटल पर दाे हजार से अधिक स्थानीय लाेग है। कई लाेगाें काे निशुल्क खाना खिला रहे थे। उपद्रव में किचन, काउंटर, स्टाेर रूम सभी काे लूट लिया। जहां कुछ नहीं मिला उसे ताेड़ दिया। हाेटल अतिथि पैलेस के मदनसिंह ने बताया की सिर्फ दीवारें बची है। दाे कराेड़ का नुकसान कर दिया।

हमारी काॅलाेनी पर 3 बार लूटा, स्थाई पुलिस चाैकी लगा दाे

माेतली माेड़ पर स्थित श्रीनाथ काॅलाेनी के 15 सदस्य दल गृह सचिव से मिलकर अपनी पीड़ा बताई। उन्हाेंने बताया कि उपद्रवियों ने काॅलाेनी के बाहर बनी किराणा, सुथारी काम, वेल्डिंग और हाेटल में जमकर ताेड़फाेड़ करते हुए सामान लूटा। इसके बाद वहां पर आग लगा दी। अगले दिन फिर इन लोगों ने हमला किया। लूटपाट के बाद भय का माहाैल बना हुआ है। फिलहाल अस्थाई पुलिस चाैकी बनाई गई है। उन्हाेंने इसे स्थाई बनाने के साथ ही नुकसान का मुआवजा दिलाने की मांग रखी।

आज भी सुबह 10 बजे से सुनवाई

गृह सचिव मीना रविवार काे सुबह 10 से शाम 6 बजे तक सर्किट हाऊस में सुनवाई करेंगे। जिसमें डूंगरपुर, प्रतापगढ़, बांसवाड़ा और उदयपुर जिले के प्रभावित लाेग सीधे अपनी बात रख सकते है। इसके लिए उन्हें सादे कागज में लिखित में जानकारी देनी हाेगी। जाे व्यक्ति अपने प्रकरण में बयान देना चाहते है। वाे भी दे सकते है। इसके अलावा ज्ञापन, शिकायत पत्र और परिवेदना दे सकते है।

इन सभी रिपाेर्ट के आधार पर गृह सचिव की ओर से उपद्रव के कारण, नुकसान, हादसे की पुनार्वृति, फेलियर, पुलिस और प्रशासन की अब तक कार्रवाई की विस्तृत रिपाेर्ट तैयार कर राजस्थान सरकार काे दी जाएगी, जाे मुख्यमंत्री तक पहुंचेंगी।

पूर्व विधायक देवेंद्र कटारा को नहीं मिली हाइकोर्ट से राहत

डूंगरपुर. नेशनल हाइवे पर हुए उपद्रव को लेकर पुलिस कुछ दिन पहले पूर्व विधायक देवेंद्र कटारा के घर पर पूछताछ के लिए गई थी, लेकिन नहीं मिलने पर पुलिस बिना पूछताछ के वापस लौटी थी। अब सामने आ रहा है कि पूर्व विधायक समेत चार जनों ने हाइकोर्ट में अर्जी दी थी, लेकिन पूर्व विधायक व अन्य को हाइकोर्ट से कोई राहत ​नहीं मिली है। हाइकोर्ट ने जांच अधिकारी के समक्ष पेश होने के लिए कहा है।

बिछीवाड़ा तहसील के वाटड़ा निवासी पूर्व विधायक देवेंद्र कटारा, रोहनवाड़ा निवासी चंदुलाल अहारी, उदरंडा निवासी भूरी देवी, सत्यदेव रोत बनाम राज्य व थानाधिकारी चांदमल सिंगारिया के मामले में याचिकाकर्ता ने अपने अधिवक्ता एसएस चौधरी के जरिए अर्जी दायर कर एफआईआर को झूठा व मनगंढ़त बताया था। इस पर याचिकाकर्ता को अनुसंधान ​अधिकारी के समक्ष उपस्थित होने के आदेश दिए है। अपना प्रतिवेदन रखने के लिए कहा है।

यह है पूरा मामला: दरअसल, शिक्षक भर्ती 2018 को लेकर अभ्यर्थियों की तरफ से चल रहे धरने के 18 वें दिन उपद्रव शुरु हो गया। तोड़फोड़, आगजनी, लूटपाट से करोड़ों रुपए का नुकसान हुआ। इस पर पूर्व विधायक देवेंद्र कटारा पर उकसाने वाले उग्र भाषण देने का आरोप लगा। पुलिस ने उनके भाषण की सीडी तैयार कर ली है। इसके बाद पुलिस पूछताछ नोटिस लेकर उनके आवास पर पहुंची, लेकिन वह अपने निवास पर नहीं मिल रहे हैं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- दिन उन्नतिकारक है। आपकी प्रतिभा व योग्यता के अनुरूप आपको अपने कार्यों के उचित परिणाम प्राप्त होंगे। कामकाज व कैरियर को महत्व देंगे परंतु पहली प्राथमिकता आपकी परिवार ही रहेगी। संतान के विवाह क...

और पढ़ें