समाधिमरण:बागीदौरा के समाज सेवी धनपाल मेहता का कुंडलपुर तीर्थ पर हुआ समाधिमरण

डूंगरपुर7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

कस्बे के समाजसेवी, व्रती श्रावक धनपाल मेहता का गुरुवार सुबह 3.26 पर मध्यप्रदेश के कुण्डलपुर में आचार्य गुरु के सन्निध्य में समाधिमरण हुआ है। मेहता ने उत्तम गति के लिए जीवन भर सादगी और संयम के पथ का अनुसरण किया। वे 76 वर्ष के थे। कुण्डलपुर में आचार्य विद्यासागर महाराज के ससंघ सान्निध्य और परिजनों की उपस्थिति में उन्होंने देह त्यागी। जैन परम्परा अनुसार उनका अंतिम संस्कार कुण्डलपुर में ही किया गया।

समाज सेवी मेहता के गृहस्थ जीवन की पुत्री आर्यिका श्वेतमति माताजी के रूप में श्रमण संस्कृति के तहत मोक्षमार्ग के पथ पर अग्रेसित होकर आर्यिका आदर्शमति माताजी के संघ में विराजित हैं। गृहस्थ जीवन के सुपुत्र राबाउमावि बागीदौरा के उप प्रधानाचार्य राजेन्द्र प्रसाद मेहता, कमलेश मेहता, पुत्रवधु सरोज मेहता, प्रेमलता मेहता सहित परिवार और समाजजन ने विनयांजलि दी। मेहता दयोदय गोशाला अध्यक्ष, बागीदौरा ग्राम पंचायत के पूर्व उप सरपंच, आर्यिका रत्न पूर्णमति माताजी के चार्तुमास में चातुर्मास समिति के अध्यक्ष भी रहे हैं।

उनके निधन से बागीदौरा के पूरे जैन समाज मे शोक की लहर छा गयी है। जैन समाज व वैष्णव समाज बागीदौरा, दयोदय गोशाला, ग्राम पंचायत सहित विभिन्न गांवों के सामाजिक व धार्मिक संगठनों ने शोक व्यक्त किया है।

खबरें और भी हैं...