आधे घंटे में लूट की 3 वारदातों को अंजाम:लुटेरे बांसवाड़ा या मध्यप्रदेश के हाेने की संभावना

डूंगरपुर/ साबला12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बांसवाड़ा जिले में सीसीटीवी फुटेज काे देखती साबला पुलिस टीम। - Dainik Bhaskar
बांसवाड़ा जिले में सीसीटीवी फुटेज काे देखती साबला पुलिस टीम।
  • बिना नंबर की डीलक्स बाइक पर सवार हाेकर बांसवाड़ा जिले की सीमा से डूंगरपुर में घुसे थे

दाे जिलाें के तीन स्थानाें पिंडावल, साबला व पालाेदा में बुधवार काे पिस्ताैल की नाैक पर करीब आधे घंटे में लूट की 3 वारदात ने व्यापारियाें में डर ताे पुलिस के लिए चुनाैती बढ़ा दी है। जिस तरह से आधे घंटे में वारदात की है, इससे लग रहा है कि आराेपी बांसवाड़ा जिले व मध्यप्रदेश के हाे सकते हैं, हालांकि मध्यप्रदेश राज्य से हाेने की संभावना सबसे अधिक लग रही है।

बिना नंबर की डीलक्स बाइक पर सवार तीन बदमाश बांसवाड़ा जिले से डूंगरपुर जिले की सीमा में बुधवार दाेपहर करीब सवा दाे बजे के आसपास प्रवेश करते हैं। कुछ ही समय में लूट की दाे वारदात करने के बाद जिले की सीमा काे छाेड़ कर वापस बांसवाड़ा जिले में प्रवेश कर जाते हैं। फिर यहां पर भी ज्वैलरी शाॅप पर पिस्ताैल की नाेक पर वारदात हाेती है।

इन वारदात के तरीके काे देख कर लग रहा है कि यह हार्डकाेर क्रिमिनल हाे सकते हैं। पिंडावल में लूट के बाद आराेपी बदमाश साबला की तरफ भाग गए थे, साबला में ज्वैलरी शाॅप पर लूट के लिए बाइक खड़ी करते ही एक बदमाश ने पहले बाइक काे सीधे कर भागने वाली दिशा में खड़ा कर दिया। सीढ़िया चढ़ते हुए पिस्ताैल निकाल दी।

43 सैकंड में वारदात से ऐसा लग रहा था कि आराेपी पकड़े जाने के डर से बहुत जल्दबाजी थे। वहीं साबला व पालाेदा की ज्वैलरी शाॅप लूट मामले में संभावना लग रही है कि एक ही गिराेह के अलग अलग सदस्य हाे सकते हैं। साबला व पालाेदा की वारदात के टाइमिंग काे चेक किया जा रहा है। क्याेंकि दाेनाें वारदात के बीच प्रारंभिक रूप से बेहद ही कम मिनटाें का अंतराल आ रहा है। गुरुवार को एसपी सुधीर जाेशी घटना स्थल पहुंचे। यहां पर पीड़ित से मामले की पूरी जानकारी ली।

काैशल काे फाइंड माय डिवाइस के जरिये आधा किमी दूर मिली थी अंतिम लाेकेशन :

माेहनलाल भगाेरिया के भाणेज काैशल जैन का माेबाइल भी लुटेरे ले गए। इस पर काैशल ने फाइंड माय डिवाइस के जरिये जब माेबाइल का पता लगाने का प्रयास किया ताे पिंडावल जाने पर वाले मार्ग पर करीब आधा किमी दूर अंतिम लाेकेशन मिली थी, लेकिन जब वहां पर पहुंचे ताे माेबाइल का कुछ पता नहीं चला। लूट के बाद से ही माेबाइल फाेन स्वीच ऑफ जा रहा है। पीड़ित फाइनेंस कर्मी साेहनलाल वर्मा का भी माेबाइल फाेन भी बदमाश छिन कर ले गए।

खबरें और भी हैं...