भगवान परशुरामजी की प्रतिमा ताेड़ी:भगवान परशुरामजी की प्रतिमा ताेड़ने पर पुनाली बस स्टैंड पर हंगामा, फुटेज देख 6 घंटे में पकड़ा आराेपी, 2019 में स्थापित की थी प्रतिमा

डूंगरपुर20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पुनाली। इस चबुतरे से ताेड़ी गई भगवान परशुरामजी की प्रतिमा। - Dainik Bhaskar
पुनाली। इस चबुतरे से ताेड़ी गई भगवान परशुरामजी की प्रतिमा।

पुनाली बस स्टैंड पर लगी भगवान परशुरामजी की मूर्ति तोड़ने पर शुक्रवार काे हंगामा हाे गया। श्रीगौड़ ब्राह्मण और सर्व समाज के लोग आक्रोशित हाेकर घटना स्थल पर पहुंच गए। इस दाैरान आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग करने लगे। सूचना मिलते ही दाेवड़ा पुलिस माैके पर पहुंच गई। पुलिस ने आरोपियों को जल्द पकड़ने का आश्वासन दिया तो लोग मान गए। पुलिस ने 10-12 जगह सीसीटीवी फुटेज खंगाले। पुलिस ने 6 घंटे के भीतर ही पुनाली निवासी शंकर पुत्र गोविंद प्रजापत काे गिरफ्तार कर लिया है।

उसने वारदात करना स्वीकार किया है, लेकिन अब तक कारण स्पष्ट नहीं हाे सके हैं कि प्रतिमा क्यों ताेड़ी? साल 2019 में विनोद जोशी के अध्यक्ष रहते हुए चोखले के सभी गांवों में भगवान परशुराम की मूर्ति की स्थापना की गई थी। ऐसे में पुनाली में भी मई 2019 भगवान परशुराम की मूर्ति बनवाई थी। गुरुवार रात करीब 12 बजे तक बस स्टैंड पर भगवान की प्रतिमा सही सलामत थी, लेकिन सुबह 6 बजे देखने पर प्रतिमा टूट कर नीचे गिरी हुई थी। इस पर गांव के लाेगाें काे सूचना दी। इस पर बस स्टैंड के पास बड़ी संख्या में लाेग एकत्रित हाे गए।

विप्र फाउंडेशन फिर लगाएगा प्रतिमा, आक्रोश के बीच डूंगरपुर-आसपुर स्टेट हाईवे पर लगी वाहनों की कतार
सूचना मिलते ही दाेवड़ा पुलिस थानाधिकारी कमलेश चौधरी माैके पर पहुंचे। ठाेस कार्रवाई के लिए आश्वस्त किया। इस दौरान डूंगरपुर आसपुर राेड पर यातायात बाधित रहा। लाेगाें ने गांव के सभी चौराहे पर सीसीटीवी कैमरे लगाने की मांग उठाई। हालांकि पुलिस ने गांव के दुकानों के बाहर लगे कैमरों काे खंगालना शुरू कर दिया ताे कुछ संदिग्ध फुटेज मिले।

इस दाैरान डूंगरपुर पुलिस से डीएसपी मनोज सामरिया, तहसीलदार संजय सरपोटा, गिरदावर अनिल पंड्या, पटवारी हितेश पाटीदार, पुनाली चौकी प्रभारी गजराज सिंह, बनकोड़ा चौकी प्रभारी महिपालसिंह, वागड़ बारा चोखला अध्यक्ष विनोद जोश, यशवंत जोशी, सरपंच अशोका परमार, उपसरपंच पदमसिंह डाबी, व्यापार मंडल अध्यक्ष गौरव यादव, सर्व समाज अध्यक्ष रमेश भट्ट, उमिया शंकर जोशी, रमाकांत व्यास, महेश दर्जी, भरत जोशी, विद्याशंकर सुथार, प्रेमजी जोशी, हेमंत जोशी, परेश जोशी, चंद्रेश जोशी, शंकर, विजय दवे सहित बड़ी संख्या में महिलाएं मौजूद रहे। पुनाली निवासी परिवादी विनोद पुत्र कुरजी जाेशी की रिपोर्ट पर प्रकरण दर्ज कर लिया है।

दूसरी ओर विप्र फाउंडेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुशील ओझा एवं राजस्थान के प्रदेशाध्यक्ष केके शर्मा के निर्देशानुसार पुनाली गांव में परशुराम की प्रतिमा को पुन: लगाने के निर्देश प्राप्त हुए हैं एवं प्रशासन द्वारा त्वरित कार्रवाई करने पर प्रशासन को धन्यवाद दिया जाता है एवं प्रशासन द्वारा जानकारी में लाया गया है कि किसी मंद बुद्धि एवं मानसिक विक्षिप्त व्यक्ति द्वारा भगवान परशुराम की मूर्ति को तोड़ा गया है। बैठक में विप्र फाउंडेशन की जिलाध्यक्ष नारायण पंड्या युवा शाखा के जिलाध्यक्ष विजय कुमार रावल युवा शाखा के महामंत्री राजेन्द्र सेवक, मुकेश जोशी, भूपेंद्र गमोट, नरहरि पहाड़ आदि उपस्थित रहे।

दाेवड़ा थानाधिकारी कमलेश चौधरी ने बताया कि मामले की गंभीरता काे देखते हुए अलग-अलग टीमों का गठन किया। पुनाली में लगे सीसीटीवी कैमरों काे खंगाला गया। परपंरागत, तकनीकी अनुसंधान व आमसूचना का समन्वय करते हुए पुनाली निवासी शंकर पुत्र गोविंद प्रजापत काे डिटेन कर थाने पर लाकर मनोवैज्ञानिक तरीके से पूछताछ की गई। आरोपी शंकर ने रात 3 बजे अहमदाबाद से पुनाली बस स्टैंड पर आया।

उसी समय भगवान की प्रतिमा काे ताेड़ना स्वीकार किया है। मूर्ति के ताेड़ने के कारणों काे लेकर पूछताछ की जा रही है। पुलिस की गठित टीम में हैड कांस्टेबल गजराज सिंह, सुरेश, कांस्टेबल पुष्पेंद्र सिंह, योगेंद्र सिंह व खुशपाल सिंह शामिल रहे।

खबरें और भी हैं...