मूर्ति तोड़ने की निंदा:विप्र फाउंडेशन ने की मूर्ति तोड़ने की घटना पर की निंदा

डूंगरपुर20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

विप्र फाउंडेशन जिला सागवाड़ा ने पुनाली में भगवान परशुराम की मूर्ति तोड़ने की घटना की भर्त्सना की है। विप्र फाउंडेशन के पदाधिकारियों ने घटना का पर्दाफाश कर ऐसे असामाजिक तत्वों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है।

विप्र फाउंडेशन के जिला अध्यक्ष प्रकाश व्यास, महामंत्री प्रदीप गामोठ, कल्पेश रावल, मुख्य संरक्षक तेज प्रकाश जोशी, जिला कोषाध्यक्ष अनुराग पाठक और जिला उपाध्यक्ष राजेश भट्ट व पुष्पेंद्र चौबीसा समेत पदाधिकारियों ने बताया कि ब्राह्मण समाज सदैव सामाजिक समरसता में विश्वास रखने वाला उदारवादी समाज रहा है। ब्राह्मण समाज के आराध्य देव भगवान विष्णु के छठे अवतार के रूप में सर्व समाज भगवान परशुराम की पूजा करता है। भगवान की मूर्ति तोड़ने की घटना की निंदा के साथ भविष्य में ऐसी घटना न हो ऐसी पुलिस और प्रशासन से मांग की।

डॉ रमेश भट्ट, डॉ सुभाष भट्ट, अनिल पुरोहित, विनोद त्रिवेदी, धीरज मेहता, कमलेश पुंजोत, देवीलाल फलोत, डाया लाल त्रिवेदी, डॉ विमलेश पंडया, सुनील पंड्या, मुकेश पंड्या, हिमांशु शर्मा, सुभाष उपाध्याय, रेखा पंड्या, सीमा जोशी, अनिता पंडया, पवित्रा जोशी समेत कार्यकारिणी के सदस्यों ने इस घटना की निंदा करते हुए त्वरित कार्रवाई नहीं होने पर जिला मुख्यालय पर धरना देकर ज्ञापन देने की चेतावनी दी। सरोदा. पुनाली गांव में बीती रात परशु रामजी की प्रतिमा तोड़ने का सरोदा में ब्राह्मण समाज द्वारा विरोध प्रदर्शन किया गया। सहस्त्र औदीच्य ब्राह्मण समाज जिलाध्यक्ष एवं सर्व ब्राह्मण समाज के प्रदेश उपाध्यक्ष हितेश रावल के नेतृत्व में बैठक की। अध्यक्ष किशोर भट्ट, चंद्रकांत व्यास, प्रवीण पण्डया, किशोर उपाध्याय, भूपेश भट्ट, हर्षद उपाध्याय, हेमेन्द्र पंड्या सहित सदस्यों ने बैठक को सं‍बोधित किया।

खबरें और भी हैं...