34KG डोडा पोस्त के साथ तस्कर गिरफ्तार:पुलिस ने नाकाबंदी में रुकवाया तो कार छोड़कर झाड़ियों में जा छिपा, आधे घंटे तक सर्च कर पकड़ा

डूंगरपुर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
तस्कर के पास डोडा ले जाने को लेकर कोई भी कागज नहीं मिले थे। - Dainik Bhaskar
तस्कर के पास डोडा ले जाने को लेकर कोई भी कागज नहीं मिले थे।

डूंगरपुर में डीएसटी और कोतवाली पुलिस टीम ने सोमवार देर रात को डोडा पोस्त तस्करी के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की है। पुलिस ने बलवाडा रेलवे फाटक के पास एक कार को रुकवाया। इस दौरान तस्कर कार छोड़कर अंधेरे में झाड़ियों के बीच छुप गया। करीब आधे घंटे तक सर्च ऑपरेशन चलाकर पुलिस ने तस्कर को पकड़ लिया। कार की तलाशी में डिग्गी से पौने 2 लाख रुपए का 34 किलो डोडा पोस्त बरामद किया है।

डीएसटी प्रभारी और कोतवाली थानाधिकारी दिलीपदान ने बताया कि मुखबिर से सूचना मिली कि एक कार से अफीम डोडा की तस्करी की जा रही है। इस पर कोतवाली एएसआई अमृतलाल, डीएसटी हेड कांस्टेबल नवीन कुमार, महावीर, मुकेश, राजगोपाल, पंकज, साइबर सेल से जोगेंद्र सिंह और अभिषेक की टीम ने बिछीवाड़ा रोड पर बलवाडा रेलवे फाटक के पास नाकाबंदी की। देर रात एक बलेनो कार डूंगरपुर की ओर से आती नजर आई, जिसे रुकने का इशारा किया। इस पर तस्कर कार को छोड़कर अंधेरे में भाग गया।

उन्होंने बताया कि पुलिस टीम ने उसका पीछा किया तो तस्कर खेतों के बीच झाड़ियों में छुप गया। करीब आधे घंटे तक छानबीन के बाद पुलिस ने प्रतापगढ़ जिले के टिटोरिया गांव निवासी रविंद्र पाल सिंह को पकड़ लिया। पुलिस ने कार की तलाशी ली तो डिग्गी में डोडा पोस्त भरा मिला। उसके पास डोडा ले जाने को लेकर कोई कागज भी नहीं थे। इस पर डोडा पोस्त के साथ कार को जब्त कर लिया। कार से जब्त 34 किलो 360 ग्राम डोडा पोस्त की अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमत करीब पौने 2 लाख रुपए बताई जा रही है। तस्कर ने डोडा पोस्त को प्रतापगढ़ जिले से गुजरात ले जाना बताया है, फिलहाल पुलिस उससे पूछताछ कर रही है।