पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कीचड़ से भरे गड्ढों से परेशान:भगोरा फला रोड आज तक नहीं बन सकी कीचड़ से परेशानी, ग्रामीणों ने खुद हटाया

गामड़ी अहाड़ा9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
गामड़ी अहाड़ा. सड़क से कीचड़ हटाते ग्रामीण। - Dainik Bhaskar
गामड़ी अहाड़ा. सड़क से कीचड़ हटाते ग्रामीण।
  • आमूलवा फला आंगनवाड़ी से 3 किमी इस कच्ची सड़क से गुजरने वाले राहगीरों के लिए यही सड़क है

ग्राम पंचायत गामड़ी अहाड़ा स्थित भगोरा फला रोड आज तक नही बन पाई है। लोग कीचड़ से भरे गड्ढों में से गुजर रहे है। कई बार प्रशासन और ग्राम पंचायत के नुमाइंदों को अवगत करवाने के बाद भी कोई सुनवाई नहीं होने का आरोप ग्रामीणों ने लगाया है। इधर बरसात के मौसम ने इनकी परेशानी और बढ़ा दी। रविवार को भगोरा फला बस्ती के सैकड़ों लोग स्वयं रोड पर आकर कीचड़ हटाने का जतन करने लगे।

वार्डपंच दिलीप कोपसा ने बताया कि इस रोड को बनाने की मांग कई वर्षों से चल रही हैं। पहले विधायक को भी अवगत करवाया था। उन्होंने रोड बनवाने के लिए पीडब्ल्यूडी विभाग को पत्र लिखा, लेकिन ये रोड विभाग के अधीन नही है। ऐसे में इसका निर्माण ग्राम पंचायत के तहत हो सकता है। आमूलवा फला आंगनवाड़ी से 3 किलोमीटर लंबी इस कच्ची सड़क से गुजरने वाले राहगीरों के लिए यही एक मात्र सड़क है,लेकिन ग्रामीणों के बार बार कहने के बाद भी सड़क के निर्माण को लेकर कोई कदम नही उठा।

हालात इस कदर खराब है कि स्वास्थ्य से जुड़ी आपात स्थिति में एम्बुलेंस भी सड़क की खराब हालत के चलते आमूलवा रोड पर खड़ी रहती है। और मरीज को 2 किलोमीटर तक चारपाई पर मुख्य सड़क तक पड़ता है। मौके पर उपस्थित भगोरा फला के ग्रामीणों ने बताया कि आमूलवा आंगनवाड़ी से लिंक यह रोड कावा नाथा अहारी के घर तक,कावा नाथा अहारी के घर से जीवा वकसी बरंडा के घर तक,जीवा वकसी बरंडा के घर से रमेश के घर तक पूरी तरह खराब हो गया है।

जिसे तत्काल ठीक किए जाने की आवश्यकता हैं। उल्लेखनीय है कि यह 3 किलोमीटर लंबी सड़क आमूलवा तीन रास्ते को ओड़ा सीमा मुख्य सड़क से जोड़ती है। और इसी मार्ग से इस क्षेत्र के लोग बिछीवाड़ा मुख्यालय तक आना जाना करते है।

जनसंख्या के अनुसार सड़क के डामरीकरण के लिए कम से कम 250 घरों की बस्ती होनी चाहिए। कुछ समय पहले हमसे डाटा मांगा गया था तो हमने इस रोड के कनेक्ट नही होने और इसे बनाये जाने का प्रस्ताव उच्चाधिकारियों को भेज दिया है। फिर भी जनसंख्या तथा आवास के आंकड़ों के अनुसार इस सड़क को जोड़ने के लिए उच्चाधिकारियों से बात करेंगे।-हरीश रोत, एईएन,पीडब्ल्यूडी,डुंगरपुर।

आमूलवा तीन रास्ते से ओड़ा सीमा तक इस कच्ची सड़क की दयनीय हालत से वाकिफ है। अक्सर मुझे भी इसी मार्ग से जाना पड़ता है। इसकी एक सेंक्शन पहले से ही ग्राम पंचायत में ले रखी है। एक बार ग्रामीणों को ग्रेवल डाल कर राहत दे देते है और बरसात रुकते ही इसे आरसीसी सड़क के रूप में बनवा दिया जाएगा।-अरविंद खराड़ी, ग्राम विकास अधिकारी,ग्राम पंचायत गामड़ी अहाड़ा

खबरें और भी हैं...