पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गुणवत्ता पर सवाल:सड़कों के पेचवर्क का टेंडर 55.99% तक कम दर में स्वीकृत, पीडब्ल्यूडी ने किए थे टेंडर

घाटोल21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 6 कामों के लिए स्वीकृत थे 17.27 लाख रुपए

पीडब्ल्यूडी घाटोल की ओर से हाल ही में सड़कों के डब्ल्यूबीएम पेचवर्क कार्य को लेकर हुई टेंडर प्रक्रिया सवालों के घेरे में आ गई है। क्योंकि विभाग द्वारा जाने वाले कार्यों की गुणवत्ता ही नहीं रहेगी। विभाग भले ही निगरानी और माॅनिटरिंग का दावा करे, लेकिन जिस दर में ठेकेदारों को टेंडर दिए है, उससे तो साफ जाहिर है कि काम में ली जाने वाली सामग्री घटिया क्वालिटी की होगी।

आमंत्रित की गई निविदा के बाद जब टेंडर खुले तो इसमें ठेकेदारों द्वारा कार्य को लेने के लिए न्यूनतम दर में टेंडर लेने की प्रक्रिया असमंजस की स्थिति पैदा कर रही है। 55.99 प्रतिशत कम दर में फर्म को काम दिया है। इसमें आशंका यह भी है कि कई जगह काम किए बिना ही बिलों का भुगतान हो सकता है।

विभाग की कार्यशैली पर भी आशंका बढ़ती है कि इतनी कम दरे आने पर भी विभाग ने टेंडर निरस्त क्यों नहीं किए। एक्सपर्ट की माने तो किसी भी विभाग द्वारा किसी काम के लिए राशि स्वीकृत की जाती है तो उससे पहले किए जाने वाले काम का एस्टीमेट तैयार किया जाता है।

पीडब्ल्यूडी द्वारा पंजीकृत संवेदकों से निर्धारित प्रपत्र में कुल 6 कार्य जिनकी अनुमानित लागत 17.27 लाख है। इसके लिए ई-टेंडरिंग प्रक्रिया के लिए गत 21 जून 2021 को आमंत्रित की गई थी। डाउनलोड और अपलोड करने की अंतिम तारीख 29 जून 2021 तक थी। जिसमें विभिन्न संवेदकों ने भाग लिया था। जब 2 जुलाई को निविदाएं खोली गई तो उसमें 2 संवेदकों ने 55.99 प्रतिशत कम दर में एवं 2 संवेदकों ने 54.99 प्रतिशत कम दर में, 1 संवेदक ने 49.49 प्रतिशत कम दर में और 1 संवेदक ने 24.97 प्रतिशत कम दर भरी थी।

रेट कम आई तो अप्रूव करना है, काम हम देखेंगे

कम रेट में आई है उसे तो अप्रूव करना ही है। गुणवत्ता को हम देखेंगे। जब कराएंगे तब देखेंगे। जितने की जांच करनी होती है, करते हैं।

अमित गर्ग, एक्सईएन, घाटोल

खबरें और भी हैं...