दीक्षा समारोह:अंदेश्वर में कल देंगे जैनेश्वरी दीक्षा

कुशलगढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कुशलगढ़. अतिशय क्षेत्र अंदेश्वर जी पारसनाथ पर होने वाले दीक्षा समारोह के पूर्व दीक्षार्थियों को मेहंदी रचाने की रस्म पूरी करते समाजजन। - Dainik Bhaskar
कुशलगढ़. अतिशय क्षेत्र अंदेश्वर जी पारसनाथ पर होने वाले दीक्षा समारोह के पूर्व दीक्षार्थियों को मेहंदी रचाने की रस्म पूरी करते समाजजन।
  • आचार्य सुनील सागरजी महाराज के सान्निध्य में सबसे बड़ा दीक्षा समारोह

जैन समाज के श्रद्धा का केंद्र वागड़ का अद्वितीय तीर्थ मुकुटमणी अतिशय क्षेत्र श्री अंदेश्वर पार्श्वनाथ तीर्थ क्षेत्र पर शुक्रवार 15 अक्टूबर को धर्म दीक्षा आयोजन होने जा रहा है। श्री दिगम्बर जैन दशाहुमड़ बीस पंथी समाज कुशलगढ़ और अतिशय तीर्थ क्षेत्र कमेटी अध्यक्ष जयंतीलाल सेठ एवं महामंत्री हंसमुख सेठ ने बताया कि आचार्य श्री आदिसागर अंकलिकर स्वामी की तपस्वी श्रमण परम्परा के चतुर्थ पट्टसूरी, विशाल संत संघ के युवा नायक संयम भूषण “आचार्य श्री सुनीलसागरजी यतिराज” के कर कमलों से पुण्यशाली भक्त संसार से वैराग्य के पथ पर अग्रसर होंगे।

सेठ ने बताया कि शुक्रवार को सुबह अन्देश्वर तीर्थ पर मूल नायक भगवान श्री पार्श्वनाथ की प्रतिमा का जलाभिषेक एवं शांति धारा होगी। जिसके उपरांत प्रातः 8 बजे से 11 बजे तक भव्य जैनेश्वरी दीक्षा समारोह का आयोजन होगा। जिसमें संघ के क्षुल्लकजी, ऐलकजी को मुनि दीक्षा व युवा ब्रह्मचारिणी बहनें व भैयाजी को जैनेश्वरी दीक्षा प्रदान की जाएगी।

वहीं बुधवार को आरती के बाद दीक्षार्थीयों को हल्दी एवं मेहंदी रस्म पूरी करने के साथ महिला संगीत हुआ। गुरुवार को दोपहर 1 बजे से गणधर वलय विधान होगा। तत्पश्चा गुरुदेव का प्रवचन और दीक्षार्थियों की शोभायात्रा निकाली जाएगी।

वहीं गुरुवार शाम के जैन भजन सम्राट रूपेश जैन एंड ग्रुप द्वारा भव्य संगीत भजनों प्रस्तुति होगी। संघ की अमृता दीदी ने बताया कि आचार्य श्री सुनील सागरजी महाराज का जिस नगर में पर्दापण हुआ, वर्षायोग हुआ उस नगर से स्वतः युवा व वृद्ध जुड़ते गए।

खबरें और भी हैं...