मार्गाें पर पाैधराेपण:टहनियों से ढकी रहती है 20 किमी लंबी सड़क

बांसवाड़ाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

ये खूबसूरत तस्वीर लोहारिया वनक्षेत्र के बीच से गुजरने वाले बांसवाड़ा-उदयपुर स्टेट हाइवे की है। यहां लोहारिया और चिड़ियावासा के नजदीक पहाड़ाें के बीच से हाइवे निकलता है। यहां इतनी हरियाली है कि कई जगह हाइवे के दाेनाें किनारों से पेड़ की टहनियां एक-दूसरे से मिली हुई है। इससे ऐसा प्रतीत हाेता है जैसे हाइवे पर पेड़ाें का काेई प्रवेश द्वार हाे।

मानसून सीजन में कहीं-कहीं हरियाली इतनी ज्यादा हाे जाती है कि सड़क पर धूप तक नहीं पहुंच पाती। शहर से निकलते ही चिड़ियावासा से गनाेड़ा तक 20 किमी के लंबे सफर में सड़क के दाेनाें ओर 100 से 200 मीटर के टुकडों में कई नीलगिरी के पेड़ से काफी छांव बनी रहती है। सड़क पर गुजरते वाहन की ड्राेन से यह खूबसूरत तस्वीर नेचर फोटोग्राफर यश सराफ ने क्लिक की है।

1985 में राेपे थे, ग्रामीणाें ने की सार-संभाल : वनपाल फरीद बताते हैं कि साल 1985 में सामाजिक वानिकी याेजना के तहत शहर के प्रमुख मार्गाें पर पाैधराेपण कराया था। जिसमें बांसवाड़ा से परतापुर, माहीडेम तक, बड़ाेदिया राेड पर खुंदनी तक और उदयपुर राेड पर शहर से भीमसाैर और गनाेड़ा के आसपास तक सड़क किनारे पाैधे लगाए थे। ग्रामीणाें ने इनकी देखरेख की।

खबरें और भी हैं...