• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Banswara
  • 23 Arrests Have Been Made So Far, 16 Of Them Are Women, Case Of Fraud In The Mark Sheet For Nursing Course, 8 Youths Are Yet To Be Arrested

फर्जीवाड़े में लिप्त 8 और महिलाओं को जेल भेजा:अब तक हो चुकी हैं 23 गिरफ्तारी, इनमें 16 महिलाएं हैं शामिल, नर्सिंग कोर्स के लिए अंकतालिका में फर्जीवाड़े का मामला, 8 युवाओं की गिरफ्तारी अभी शेष

बांसवाड़ा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गिरफ्तार की गई फर्जीवाड़े से जुड़ी महिलाएं। - Dainik Bhaskar
गिरफ्तार की गई फर्जीवाड़े से जुड़ी महिलाएं।

फर्जी अंकतालिका के आधार पर नर्सिंग कोर्स में दाखिला लेने वाली 8 और महिलाओं को अदालत ने जेल भेजने के आदेश दिए हैं। इससे पहले भी मामले में गिरफ्तार हो चुके 15 (8 महिला और 7 पुरुष) आरोपियों को जेल भेज चुकी है। अदालती आदेश के बाद जेल भेजने से पहले पुलिस ने सभी 8 महिलाओं की महात्मा गांधी राजकीय चिकित्सालय में कोरोना जांच कराई। शाम करीब पौने 6 बजे पुलिस आरोपी महिलाओं को लेकर हॉस्पिटल पहुंची। दूसरी ओर पुलिस को अब भी मामले में 8 युवाओं की तलाश है। हालांकि, अगली गिरफ्तारी को लेकर पुलिस ने अभी कुछ नहीं बताया है। गिरफ्तारी की कार्रवाई कोतवाली थाने के सब इंस्पेक्टर रमेश खराड़ी ने की।

एमजी हॉस्पिटल परिसर के भीतर कोरोना जांच केंद्र तक पहुंचती हुई।
एमजी हॉस्पिटल परिसर के भीतर कोरोना जांच केंद्र तक पहुंचती हुई।

3 महिलाओं की गोद में दुधमुंहे
फर्जी अंकतालिका प्रकरण में गिरफ्तार महिलाओं में तीन की गोद में दुधमुंहे बच्चे हैं। अदालती आदेश पर वह न्यायिक अभिरक्षा में भेजी जा रही हैं। ऐसे में कोरोना जांच के अलावा जेल तक के सफर में बच्चे भी गोद में बने रहे। जेल के वातावरण और बीमारी के इस दौर में मां के साथ बच्चों की जेल में तबीयत बिगड़ने की आशंकाएं बन रही हैं। सभी आरोपी महिलाएं अनुसूचित जनजाति वर्ग की अभ्यर्थी रही हैं।

कैमरा देख मुंह छिपाने लग गई आरोपी महिलाएं।
कैमरा देख मुंह छिपाने लग गई आरोपी महिलाएं।

यह है मामला
प्रकरण के अनुसार वर्ष 2019 में नर्सिंग कोर्स (जीएनएम) दाखिले को लेकर अभ्यर्थियों से आवेदन मांगे गए थे। यहां दाखिले के समय मूल दस्तावेज जांच में अंकतालिकाएं फर्जी होने की बात सामने आई। इस पर 4 अक्टूबर 2019 को राजकीय महात्मा गांधी राजकीय चिकित्सालय के तत्कालीन पीएमओ (प्रमुख चिकित्सा अधिकारी) डॉ. एन.एल. चरपोटा ने कोतवाली थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। शुरुआत में दो मामले पकड़े गए थे। बाद में धीरे-धीरे मामले पकड़ में आते गए, जो करीब 33 तक पहुंच गए। मामले में पुलिस ने अब तक 23 लोगों की गिरफ्तारी की है।
ऐसे पकड़ में आया फर्जीवाड़ा
महात्मा गांधी राजकीय चिकित्सालय में संचालित जीएनएम ट्रेनिंग सेंटर में दाखिले हुए थे। यहां प्रक्रिया के बीच प्रशिक्षुओं की ओर से पेश की गई अंकतालिकाओं को सत्यापन के लिए नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ ओपन स्कूलिंग (एनआईओएस) को भिजवाया गया। वहां से संबंधित 33 प्रशिक्षुओं की अंकतालिकाओं की पुष्टि नहीं की गई। यह सूचना बांसवाड़ा के चिकित्सा विभाग को मिली। तब विभाग ने इस सूचना से निदेशालय को अवगत कराया। वहां से ऐसे लोगों के खिलाफ कोतवाली में रिपोर्ट कराने के आदेश मिले।
आज गिरफ्तार हुई 8 महिलाएं

  • उमरखोटी, समलोपुरी जिला प्रतापगढ़ निवासी ममता कुमारी पुत्र अर्जुनलाल मीणा
  • रोडी, सीमरोल, घाटोल निवासी दीपिका पुत्री हरीशचंद्र राणा
  • खरखेटी, टामटिया प्रतापगढ़ निवासी अर्पणा पुत्री मोहनलाल डिंडोर
  • कुंडा, खेरवा थाना घाटोल निवासी अनीता कुमारी पुत्री भगवती शंकर निनामा
  • गुलाबपुरा पोस्ट कुवानिया थाना भूंगड़ा निवासी मनीषा पुत्री कालूराम निनामा।
  • पावटी थाना पीपलखूंट, प्रतापगढ़ निवासी मंजू पुत्री भेमजी मईड़ा।
  • दामोदपाड़ा, बड़ाना थाना खमेरा निवासी सुनीता पुत्री रमेशचंद्र निनामा।
  • मियासा तहसील घाटोल निवासी लीली पुत्री विष्णु डामोर।

पुरानी गिरफ्तारी के लिए इस पर क्लिक करें:-

फर्जीवाड़े में 8 युवतियों सहित 15 गिरफ्तार:फर्जी अंकतालिका प्रकरण, नर्सिंग कोर्स में दाखिले का मामला, सभी आरोपियों को अदालत ने जेल भेजा

खबरें और भी हैं...