पेयजल से लेकर सीवरेज तक की व्यवस्था:320 कराेड़ से सुधरेगी पेयजल व सीवरेज व्यवस्था प्रेशर से पानी के लिए शहर में बनेगा पंपिंग स्टेशन

बांसवाड़ा9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सर्वे शुरू, पाइप लाइन भी नई डलेगी, 1550 किलो लीटर क्षमता का जलाशय भी बनेगा

शहर में जल्द ही कई बड़े बदलाव होने वाले हैं। पेयजल से लेकर सीवरेज तक की व्यवस्था को बदलने के लिए 320 करोड़ रुपए खर्च होंगे। यह काम राजस्थान अर्बन इंफ्रास्ट्रक्चर डवलपमेंट प्रोजेक्ट में होंगे। आरयूआईडीपी के अधीक्षण अभियंता मनीष अरोड़ा ने बताया कि नए प्रोजेक्ट के तहत शहर में वाटर ट्रीटमेंट प्लांट और पंपिंग स्टेशन बनेगा। जिससे पुराने शहरी क्षेत्र में पुरानी पाइप लाइन से अब तक की जा रही जलापूर्ति में आ रही दिक्कतों से शहरवासियों को निजात मिलने की संभावना है। अभी शहर में नई पाइप लाइन डालने और सीवरेज लाइन के काम के लिए सर्वे किया जा रहा है और मार्च के अंत तक सर्वे कार्य पूरा होगा। सर्वे रिपोर्ट जयपुर आरयूआईडीपी कार्यालय भिजवाई जाएगी, जहां से सर्वे अप्रूव होने के बाद निर्माण कार्य संबंधित ठेकेदार द्वारा प्रारंभ किया जाएगा। इसके बाद लाेगाें काे पेयजल आपूर्ति की नई पाइप लाइन से नए कनेक्शन दिए जाएंगे।

पेयजल के दो नए फिल्टर प्लांट बनेंगे
{1550 किलाे लीटर क्षमता का स्वच्छ जलाशय बनाया जाएगा। {9.25 मिलियन लीटर प्रति दिन क्षमता का एक फिल्टर प्लांट कागदी पिकअप वियर के समीप मौजूदा फिल्टर प्लांट के पास बनेगा। {दूसरा फिल्टर प्लांट शहर में पीएचईडी के सहायक अभियंता कार्यालय परिसर में स्थित फिल्टर प्लांट के पास बनेगा। {उच्च दबाव से पानी सप्लाई करने कई जगह पंपिंग स्टेशन बनाएंगे। {नई पाइप डालने के साथ नए हाउस सर्विस कनेक्शन दिए जाएंगे।

खबरें और भी हैं...