• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Banswara
  • 35 year old Youth Arrested, Police Engaged In Hiding The Whole Matter, Fears Of Spoiling The Atmosphere, Tribal Organizations Also Chased The Police

6 साल की बच्ची से दुष्कर्म:घर के बाहर खेल रही थी, 35 साल का युवक उठाकर अपने घर ले गया; पुलिस की ढिलाई पर संगठनों ने बनाया दबाव

बांसवाड़ा2 महीने पहले
डेमो पिक।

बांसवाड़ा जिले के आनंदपुरी थाना क्षेत्र में 6 साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म का मामला सामने आया है। घटना रविवार शाम की है। इसके बाद से पूरे दिन पुलिस मामले को छिपाती रही। सोमवार शाम करीब साढ़े छह बजे बाद पीड़िता का मेडिकल कराया गया।

इसके बाद से रात 10 बजे तक पुलिस पीड़िता और उसके माता-पिता को लेकर शहर में इधर-उधर भटकती रही। तभी कुछ आदिवासी संगठनों के युवाओं ने पुलिस वाहन का पीछा किया। युवाओं ने पीड़िता और उसके माता-पिता से मिलने की जिद भी की, लेकिन पुलिस ने जांच प्रक्रिया बताकर उन्हें मिलने से रोक दिया। पुलिस को डर था कि कहीं माहौल बिगड़ न जाए, ऐसे में वह घटना को मीडिया व अन्य से दूर रखे हुए थी। सोमवार रात को पुलिस ने इतना जरूर स्प्ष्ट किया कि मामले में आरोपी की गिरफ्तारी हो चुकी है।

घर के बाहर खेल रही थी बच्ची
थानाधिकारी कपिल पाटीदार ने बताया कि घटना रविवार शाम की है। बच्ची घर के बाहर खेल रही थी। तभी उसके घर से करीब 300 मीटर दूरी पर रहने वाला एक युवक उसे बाइक पर बैठाकर घर ले गया। आरोपी ने उसके साथ दुष्कर्म किया। बाद में बच्ची को उसकी काकी के यहां छोड़ गया। रोती हुई बच्ची ने उसकी मां को आपबीती सुनाई। यह बात परिवार के बड़ों को भी पता चली। परिवार आरोपी के घर भी गया, लेकिन आरोपी वहां नहीं मिला।

पिता अहमदाबाद से आए तो पुलिस तक पहुंचा मामला
रविवार रात को पूरा मामला परिजनों तक ही सीमित रहा। बच्ची का पिता अहमदाबाद में मजदूरी करता है। वह सोमवार को घर आया और बाद में पुलिस से संपर्क किया। आनंदपुरी क्षेत्र के चांदरवाड़ा इलाके में मामले को लेकर माहौल गर्माया रहा। बाद में देर शाम पुलिस पीड़िता व उसके माता-पिता को लेकर बांसवाड़ा पहुंची। मेडिकल की कार्रवाई हुई। इसके बाद पुलिस सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता कार्यालय पहुंची। वहां बाल कल्याण समिति सदस्यों से मिली। इसके बाद कोतवाली में कुछ आदिवासी संगठनों के प्रतिनिधियों ने पीड़िता से बातचीत के प्रयास किए, लेकिन बागीदौरा डिप्टी एसपी राम गोपाल बसवाल ने उन्हें यह कहते हुए रोक दिया कि अभी मामले की जांच चल रही है। मेडिकल रिपोर्ट में बच्ची के किसी तरह के चोट के निशान नहीं मिले हैं।

पुलिस का तर्क
मामले की जांच में जुटी पुलिस ने अंदेशा जताया कि आरोपी का नाम देने के बाद मामले में क्षेत्र का माहौल बिगड़ सकता है। आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस अपना काम कर रही है। पुलिस की ओर से बच्ची के बयान भी दर्ज किए जा चुके हैं।