• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Banswara
  • 75 Percent People Got The First Dose, Only 52% Came For The Second, Worry Because If Late, The First Dose Will Also Be Ineffective

विदेशों में फिर बढ़े कोरोना के मामले:75 फीसदी लोगों ने लगवाया पहला डोज, दूसरे के लिए सिर्फ 52% ही आए, चिंता-क्योंकि देर की तो पहला डोज भी हो जाएगा बेअसर

बांसवाड़ाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मुख्यमंत्री अशाेक गहलोत ने प्रदेश में वैक्सीनेशन के दूसरे डोज लगाने में अा रही गिरावट पर भी चिंता जताई है। क्योंकि वैक्सीन का दूसरा डोज समय पर नहीं लगाने पर पहला डोज भी बेकार हाे जाएगा, लेकिन बांसवाड़ा जैसे जनजाति जिले में काेराेना के पहले अाैर दूसरे डोज के बीच काफी ज्यादा अंतर नजर आ रहा है। पहले डोज 75 प्रतिशत लोगों ने लगवाया। वहीं दूसरे डोज में भी बांसवाड़ा जिला 52.4 प्रतिशत है। लेकिन चिंता इसलिए है कि अब लोग दूसरा डोज लगवाने नहीं आ रहे हैं और स्वास्थ्य विभाग इसे लेकर कोई खास प्रयास नहीं कर रहा है।

वैक्सीन के दूसरे डोज पर आरसीएचओ डाॅ. नरेंद्र काेहली का कहना है कि जिले में पहले डोज का जाे 25 से 24% गेप रह रहा है। जल्द ही हम अाैर हमारी टीम पहले डोज में 80 से 85 प्रतिशत का लक्ष्य हासिल कर लेंगे। दूसरे टीका लगवाने के लिए टीमें घर-घर जाकर लोगों जागरूक करेंगी। करीब 2 लाख लोग ऐसे हैं, जिनका दूसरे डोज का अंतराल बढ़ गया है। यदि उन्होंने जल्द दूसरा डोज नहीं लगवाया तो पहला बेअसर हो सकता है।

युवाओं को ज्यादा खतरा-क्योंकि दूसरा टीका नहीं लगवाने वालों में सबसे ज्यादा 18-45 की उम्र (60%) के ही

बांसवाड़ा में दूसरे डाेज काे लेकर चिंता की बात करें ताे यह चिंता 18 से 45 के बीच एज ग्रुप में देखी जा सकती है। क्योंकि युवाओं के इस ग्रुप में अब तक 39.88 प्रतिशत लाेगाें ने ही दूसरा डाेज लगाया है। जबकि इस ग्रुप में पहले डोज की संख्या 64.28 प्रतिशत तक पहुंच चुकी है। 18 से ऊपर के सभी एज ग्रुप में डोज वाइज कंपेयर किया जाए ताे स्थिति यह है कि जिले का कुल टार्गेट 13 लाख 51 हजार 501 का है। जिसमें 10 लाख 37 हजार 730 काे पहला डोज लगा है अाैर 5 लाख 44 हजार 763 लाेगाें काे दूसरा डोज लगा है, यानि 4 लाख 88 हजार 685 लाेगाें काे दूसरे डोज नहीं लगे हैं।

ब्लाॅक लक्ष्य फर्स्ट डाॅज सैकंड डाॅज अानंदपुरी 109226 89.26 71.91 बागीदाैरा 171246 79.40 62.76 छाेटी सरवन 72057 63.68 59.69 घाटाेल 213427 78.09 42.90 कुशलगढ़ 157894 67.52 49.66 परतापुर 212598 74.23 50.61 सज्जनगढ़ 136981 67.33 56.44 तलवाड़ा 198536 71.40 37.91 अरबन 79536 112.32 58.03

रिसर्च-2 तरह से लड़ेगा टीका
स्टेनफोर्ड में हुई रिसर्च के आधार पर वायरस के प्रति हमारे शरीर में तीन तरह का प्रतिरक्षा तंत्र काम करता है। पहली एंटीबॉडी, दूसरी टी सेल्स और तीसरी जन्मजात एंटीबॉडी। नेचुरल एंटीबॉडी का रेस्पॉन्स 60 से 70% तक मिलता है। लेकिन टी सेल्स ज्यादा एक्टिव नहीं होते अौर जन्मजात एंटीबॉडी तो बिल्कुल नहीं। सबसे अहम जन्मजात एंटीबॉडी है। दोनों डोज लगवाने से म्युटेशन की आशंका भी कम हो जाती है।

अब घर-घर टीके लगाएंगे
चिकित्सा विभाग की अाेर से प्राप्त अांकड़ाें के मुताबिक 2 लाख के करीब एेसे लाेग हैं जिनके पहले डाेज का टाइम फ्रेम पूरा हाे चुका है अाैर दूसरा डाेज लगाना जरूरी है। जिसके लिए विभाग की अाेर से अब घर घर टीके के लिए मुहीम शुरू की जाएगी। आरसीएचओ डाॅ. काेहली ने बताया कि बांसवाड़ा में काेविशिल्ड के 1 लाख 68 हजार 264 सैकंड डाेज अाैर काेवैक्सीन की 17 हजार 637 सैकंड डोज ड्यू चल रही हैं।

खबरें और भी हैं...