• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Banswara
  • 90 Thousand From Finance Personnel In Pindaval, 500 Grams Of Silver From Jewelers By Showing Pistol In Sabala, Crooks Took 5 Kg Of Silver From Jewelers In Paloda

10 किमी दायरे में 30 मिनट में 3 लूट:पिंडावल में फाइनेंसकर्मी से 90 हजार, साबला में पिस्तौल दिखाकर ज्वैलर्स से 500 ग्राम चांदी, पालोदा में ज्वैलर्स से 5 किलो चांदी ले गए बदमाश

बांसवाड़ा15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • बांसवाड़ा-डूंगरपुर सीमा पर 3 बाइक सवार दिनदहाड़े लूट करते रहे, सीसीटीवी में कैद हुई 2 वारदात
  • पुलिस यह तक पता नहीं लगा सकी कि लुटेरे कौन थे, कहां से आए अौर किस रास्ते से भाग गए

डूंगरपुर और बांसवाड़ा सीमा से सटे पिंडावल, साबला और पालाेदा में बुधवार को 30 मिनट में सिलसिलेवार लूट की तीन वारदातें हुई। पहली वारदात पिंडावल में दोपहर 3.15 बजे हुई। इसमें बाइक सवार फाइनेंसकर्मी से लुटेरों ने 90 हजार रुपए छीन लिए। 10 मिनट बाद दोपहर 3:25 बजे दूसरी साबला में सर्राफा व्यवसायी की दुकान पर पिस्तौल दिखाकर 500 ग्राम चांदी के जेवर लूटे गए। इसके ठीक 20 मिनट बाद यानी दोपहर 3:45 बजे तीसरी वारदात पालोदा में हुई। यहां लुटेरों ने पिस्तौल की नाेक पर ज्वैलरी दुकान में घुस 5 किलाे चांदी लूटी। दोनों जिलों की पुलिस ने नाकेबंदी कराई, लेकिन देर रात तक कोई सुराग नहीं लगा।

बांसवाड़ा और डूंगरपुर पुलिस अभी तक यह तक पता नहीं लगा सकी है कि तीनों वारदात को अंजाम एक गिरोह ने दी या अलग-अलग गिरोह का काम है। यह भी अभी साफ नहीं हो सका है कि लुटेरे किस रास्ते से आए और कहां भाग गए? दाे जगह के सीसीटीवी फुटेज में तीन-तीन लुटेरे दिखे हैं। सबसे हैरान करने वाला यह है कि लूट की तीनाें जगह की एक-दूसरे से दूरी पांच-पांच किमी है।

लाेहारिया थानाधिकारी सीआई नानालाल ने बताया कि साबला और पालाेदा दाेनाें जगहाें पर हुई लूट में शामिल बदमाशों के सीसीटीवी फुटेज खंगाले हैं। दाेनाें में समानता है कि वे संख्या में तीन थे। बाइक सवार थे। हिंदी बाेल रहे थे। हुलिया लगभग समान था, लेकिन कपड़ाें में कुछ भिन्नता है। अभी निश्चितताैर पर कुछ नहीं कहा जा सकता। पूरे मामले की जांच की जा रही है।

पिंडावल : 15 मिनट में फाइनेंसकर्मी से 90 हजार रु. का बैग लूटा

समय : दोपहर 3.15 बजे, जगह : पिंडावल से बेणेश्वर धाम की ओर जाने वाला रास्ता
कमस्टा माइक्राे फाइनेंस कंपनी गनाेड़ा का कर्मचारी साेहनलाल वर्मा निवासी लाेसल (सीकर) गांवाें से फाइनेंस की किश्त वसूलकर गनाेड़ा की ओर जा रहा था। रास्ते में 3 बाइक सवार लूटेराें ने राेककर 90 हजार रुपयों की नकदी से भरा बैग, मोबाइल व मोटरसाइकिल की चाबी लूट ली व साबला की ओर भाग निकले। फाइनेंसकर्मियों ने 15 मिनट तक तो पुलिस को सूचना ही नहीं दी। बताया जा रहा है कि 15 मिनट बाद यही बाइक सवार लुटेरे वापस वहां से गुजरे।

साबला : 43 सैकंड में ज्वैलर्स की दुकान में आधा किलो चांदी उड़ाकर भाग गए

समय : दोपहर 3.25 बजे जगह : पारस ज्वैलर्स, साबला।

दुकान मालिक माेहनलाल भगाेरिया दाे साल की पाेती के साथ दुकान पर बैठे थे। वहां भाणेज काैशल जैन भी था। इसी दाैरान बाइक सवार तीन युवक पिस्तौल के साथ पहुंचे। दुकान में घुसकर व्यापारी काे धमकाते हुए नकदी व जेवरात मांगे। एक बदमाश ने काउंटर की दराज खाेल भीतर रखा आधा किलाे चांदी से भरा बैग उठा लिया। काैशल ने बदमाशों काे राेकने का प्रयास किया ताे एक बदमाश ने हाथ से उसके सिर में मारा। बाहर निकल कर भागते समय भी काैशल ने बदमाशों काे राेकने का प्रयास किया ताे पिस्तौल लहराते हुए धमकाया, जिससे डर कर वह वापस दुकान में घुस गया। यह लूट महज 43 सैकंड में हुई।

पालोदा : बंदूक दिखाकर ज्वैलर्स से 5 किलो चांदी लूट बाइक से भाग निकले

समय : दोपहर 3.45 बजे जगह : राजेंद्र काेठारी की ज्वैलरी दुकान

बाइक से तीन युवक पहुंचे। व्यापारी ने उन्हें ग्राहक समझा। युवकाें में से एक ने पिस्तौल निकाल दिखाई ताे व्यापारी सकते में आ गया। एक ने व्यापारी काे गन प्वाइंट पर लेकर दुकान में रखा कैश मांगा। उसने दुकान में कैश नहीं हाेने की बात कही तो उसकी पिटाई की। एक अन्य बदमाश ने अलमारी में रखा बैग उठा लिया। उसमें 5 किलो चांदी की ज्वैलरी थी। करीब 7 मिनट में वारदात कर लुटेरे भाग निकले। शोरगुल सुन पड़ोसियों ने अपनी दुकानाें से बाहर आने का प्रयास किया, लेकिन बदमाशों ने हाथाें में पिस्तौल लहराते हुए फायर करने की धमकी दी ताे वे पीछे हट गए। वारदात के बाद बदमाश पल्सर बाइक से परतापुर राेड पर भाग निकले।

भास्कर इन्वेस्टिगेशन, लूट से पहले रैकी की, एक ही गिरोह, क्योंकि-तीनों जगह 3 बाइक सवार थे

आधे घंटे में लूट की तीन वारदात में एक ही गिरोह का हाथ हो सकता है। क्योंकि-यह तीनों वारदात पूरी प्लानिंग के साथ की गई है। भास्कर पड़ताल में सामने आया कि तीनों जगह बाइक सवार ही थे। सवाल-दोनों जगह ज्वैलरी शॉप को टारगेट क्यों बनाया? लूट करने से पहले युवकों ने रैकी की है। क्योंकि-साबला में पूरी वारदात को अंजाम महज 43 सैकंड में ही दे दिया गया।

यह बिना रैकी के संभव नहीं है। तीनों जगह वारदात के लिए गैंग एक ही रास्ता और 10 किमी का एरिया ही चुना। ताकि पुलिस को धोखा देकर आसानी से छिपा भी जा सके और सोशल मीडिया पर एक घटना की सूचना वायरल हो, उससे पहले ही सभी घटनाओं को अंजाम दे दिया जाए। मंगलवार शाम 7:45 बजे पुलिस को पिंडावल टोल से बदमाशों के गुजरने की सूचना मिली। बताया जा रहा है कि यहां बदमाश बिना किसी मास्क के थे।

लूट की तीनों घटनाओं के बदमाशों को पकड़ने के लिए गढ़ी, लाेहारियां और माेटागांव तीनाें थानाें की पुलिस लगा दी है। कई जगह दबिश दे रहे हैं। किसी गैंग का नाम अभी सामने नहीं आया है।- कावेंद्र सिंह सागर, एसपी

खबरें और भी हैं...