पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मेगा प्राेजेक्ट:92.28 किमी सीवरेज, 338 किमी जलापूर्ति लाइन बिछेगी, 320.74 करोड़ रुपए खर्च होंगे

बांसवाड़ा6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • दूसरे चरण के लिए शहर काे 6 जाेन में बांटा, वार्ड 29 की श्रीराम कॉलोनी से काम शुरू

लंबे समय से शहर में सीवरेज के दूसरे फेज का बंद काम आखिरकार रविवार से शुरू हाे गया। विधिवत उद्घाटन मुख्यमंत्री अशाेक गहलाेत के हाथाें किया जाएगा, लेकिन काॅन्ट्रेक्टर द्वारा सारी मशीनरीज और लैबर के आ जाने से प्रारंभिक ताैर पर काम शुरू कर दिया है। इसके लिए पूरे शहर काे 6 जाेन में बांटा है। इसकी डिजाइन सर्वे के बाद स्वीकृति के लिए भेजी है, इसमें से फिलहाल जाेन-3 की डिजाइन स्वीकृत कर दी गई है।

इसलिए प्राेजेक्ट की शुरुआत जाेन-3 के वार्ड नंबर 29 से की। वार्ड पार्षद चंकी शाह ने नारियल वधेरकर शुभारंभ कराया। यह काम 2 से ढाई माह में पूरा करने का लक्ष्य है। जाेन 3 में शामिल वार्डाें में पहले से ही सीवरेज के पानी के सड़काें पर बहने की समस्या है, ऐसे में यहां के लाेगाें काे जल्द ही इससे निजात मिल जाएगी। खासताैर पर वार्ड 29 में स्थित चेतक काॅम्पलेक्स के निवासी आए दिन नालियाें में पानी के भराव काे लेकर समस्याएं लेकर नगर परिषद पहुंचते थे। इस अवसर पर आरयूआईडीपी के अधिकारी और वार्ड के लाेग भी माैजूद थे।

यह है पूरा प्रोजेक्ट
एक्सईएन प्रभुलाल भाभाेर ने बताया कि दूसरे फेज के काम की लागत 320.74 कराेड़ रुपए हैं। इसमें सीवरेज व पेयजल लाइन बिछाई जाएगी। सीवरेज का काम उन्हीं वार्डाें में किया जाएगा जाे पहले चरण में शामिल नहीं थे। पेयजल सप्लाई के लिए 338 किमी और सीवरेज के लिए 92.281 किमी लंबी पाइप लाइन डलेगी। सीवरेज प्राेजेक्ट 124.77 कराेड़ और पेयजल सप्लाई का प्राेजेक्ट 120.63 कराेड़ रुपए का है। शेष 32.10 कराेड़ रुपए की लागत से जिन वार्डाें में काम होगा, वहां पर नई सड़क बनाई जाएगी।

इस प्राेजेक्ट से नगर परिषद काे भी आर्थिक मदद मिलेगी, क्याेंकि परिषद का 50 फीसदी से भी ज्यादा बजट शहर में सड़काें और नालियाें के निर्माण में खर्च हाेता था। अब जहां सीवरेज लाइन डालेंगे, वहां आरयूआईडीपी ही सड़क बनाएगी। इससे शहर की सुंदरता भी बढ़ेगी। यानी अब शहर की सड़कों पर नाली का पानी और गंदगी नजर नहीं आएगी।

खबरें और भी हैं...