बस स्टॉप पर चले लात-घूसे:एक युवक की मौत, 2 साल पुरानी रंजिश में किया हमला, 3 माह पहले ही हुआ था लीवर का ऑपरेशन

बांसवाड़ा8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पोस्टमार्टम के बाद बांसवाड़ा से गांव पहुंचने वाले शव को लेकर लसोड़िया में जमा हुए रिश्तेदार एवं  परिवार के लोग। एहतियात के तौर पर मौजूद पुलिस। - Dainik Bhaskar
पोस्टमार्टम के बाद बांसवाड़ा से गांव पहुंचने वाले शव को लेकर लसोड़िया में जमा हुए रिश्तेदार एवं परिवार के लोग। एहतियात के तौर पर मौजूद पुलिस।

सज्जनगढ़ थाना क्षेत्र होकर गुजरते NH-113 के पाड़ी बस स्टॉप पर दो पक्षों के बीच हुई दिवाली की शाम को जमकर लात घूंसे चले। वारदात में एक युवक की मौत हो गई। मरने वाले युवक का करीब तीन माह पहले लीवर का ऑपरेशन हुआ था, जहां आरोपी ने जोर से लात मारी। इसके चलते उसकी मौत हो गई। मारपीट करने वाले दोनों पक्ष सूरत (गुजरात) में नौकरी करते हैं, जो दिवाली मनाने के लिए गांव आए थे। युवक की मौत के बाद क्षेत्र में तनाव के हालात बने हुए हैं। लोगों के इकट्‌ठा होने के बाद शुक्रवार शाम को शव के अंतिम संस्कार होने तक विशेष एहतियात बरतती रही।
सज्जनगढ़ थानाधिकारी धनपतसिंह ने बताया कि लसोड़िया निवासी लालसिंह पुत्र भाणजी पटेल ने थाने में रिपोर्ट दी है। लालसिंह ने बताया कि वह और उसका मित्र विजय दिवाली की शाम को सूरत (गुजरात) से गांव आया था। यहां NH 113 पर पाड़ी बस स्टॉप पर साढ़े 5 बजे वह उसका भाई शांतिलाल उसे बाइक से लेने आया था। तभी स्थानीय अरविंद पुत्र रावजी पटेल, जग्गू पुत्र रावजी पटेल एवं अन्य दो आरोपी मौके पर पहुंचे। उन्होंने करीब दो साल पहले हुए विवाद को लेकर लात-घूंसे शुरू कर दिए। इस बीच अरविंद ने शांतिलाल के लीवर वाले उस कमजोर हिस्से पर लात मारी, जहां करीब 3 माह पहले ऑपरेशन हुआ था। घायल शांतिलाल को सज्जनगढ़ CHC पर पहुंचने से पहले ही दम तोड़ दिया। यहां भी पुलिस ने एहतियात के तौर पर शव को बांसवाड़ा के महात्मा गांधी राजकीय चिकित्सालय के मुर्दाघर में पहुंचाया। यहां शुक्रवार दोपहर को पोस्टमार्टम के बाद पुलिस ने शव परिजनों को सौंपा।
सभी सूरत में नौकरी करते हैं
पुलिस ने बताया कि पीड़ित और आरोपी पक्ष दोनों ही सूरत में नौकरी करते हैं। अभी कुछ दिन पहले ही शांतिलाल एवं आरोपी यहां दिवाली मनाने के लिए यहां आए थे। इनके बीच करीब 2 साल पहले किसी बात को लेकर विवाद हुआ था। इसके बाद समाज स्तर पर सामूहिक बैठक में समझौता हुआ था। लेकिन, दोनों पक्षों में रंजिश बनी हुई थी। पुलिस ने आरोपी अरविंद के खिलाफ मर्डर का मामला दर्ज किया।