मोहर्रम पर्व:राजतालाब पाल तक जुलूस निकालने पर प्रशासन ने रोका, तनातनी, शाही दरवाजे तक ही निकला

बांसवाड़ाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पृथ्वीगंज और गोरख इमली मस्जिद के मोहर्रम पर ताजिए के साथ मौजूद श्रद्धालु। - Dainik Bhaskar
पृथ्वीगंज और गोरख इमली मस्जिद के मोहर्रम पर ताजिए के साथ मौजूद श्रद्धालु।
  • कोरोना संक्रमण के कारण लगातार दूसरे साल भी नहीं मिली राजतालाब तक जुलूस की अनुमति
  • बाद में वाहनों से राजतालाब तक ले गए चार ताजिए

कोरोना संक्रमण को देखते हुए इस बार भी मुस्लिम समाज के मोहर्रम पर्व परंपरागत रूप से पृथ्वीगंज से राजतालाब की पाल तक ताजियों का जुलूस नहीं निकाला गया। प्रशासन और समाज के मुखियाओं का प्रतिनिधिमंडल की बैठक में हुए निर्णय के अनुसार पृथ्वीगंज से शाही दरवाजे तक जुलूस निकाला गया, इसके बाद राजतालाब तक वाहनों से ताजियों को ले जाए गए। क्योंकि शुक्रवार दोपहर समाज के मुखियाओं का प्रतिनिधिमंडल कलेक्ट्रेट में एसडीएम के पास जुलूस की अनुमति लेने पहुंचा।

वहां एसडीएम ने काेराेना संक्रमण की आशंका के चलते अनुमति नहीं दी। इस पर प्रतिनिधिमंडल ने 40 दिनों तक ताजिए मस्जिदों में ही रखकर उसके बाद विसर्जन करने की बात कही। थोड़ा हंगामा भी हुआ। शाम करीब 4 बजे सभापति जैनेंद्र त्रिवेदी, कलेक्टर अंकित कुमार सिंह, एसपी कावेंद्र सिंह सागर सहित वरिष्ठ अधिकारियों ने इस पर मंत्रणा की।

इसके बाद एएसपी कैलाश सांदू व एडीएम नरेश बुनकर शाही दरवाजे तक पहुंचे। वहां सैंकड़ाें लाेगाें की उपस्थिति में समाज के मुखियाओं से बात की। एडीएम ने उन्हें राजतालाब से पहले शाही दरवाजे तक ही जुलूस के साथ आने पर अनुमति दी। इसके बाद दाेनाें पक्षों में सहमति बनी व ताजियों का विसर्जन हाे सका। इस बार मोहर्रम पर 8 ताजिए थे।

देररात पृथ्वीगंज पर सैंकड़ाें की भीड़ जुटी, अंजुमन सदर शोएब खान सहित 7 पर केस

मोहर्रम पर्व पर गुरुवार देररात जुल्फिकार जुलूस के बाद पृथ्वीगंज मस्जिद पर सैंकड़ाें लाेगाें की भीड़ एकत्रित हाेने पर आयाेजन से जुड़े सदर अंजुमन शाेएब खान, जुबेर खान, इसरतुल्ला खान उर्फ राजा वकील, वसीम खान, वसीम अहमद, रमीज उर्फ राजा, साेहेल खान के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। पुलिस ने रिपोर्ट में बताया कि जुल्फिकार का जुलूस ताे वाहन में ही निकला, लेकिन आयाेजन में पृथ्वीगंज मस्जिद के पास 500-600 लाेगाें की भीड़ एकत्रित हाे गई।

बिना प्रशासनिक अनुमति के भीड़ एकत्रित हाेने से काेविड-19 संक्रमण के बढ़ने की आशंका बढ़ गई। सदर अंजुमन शाेएब खान से पूछने पर उन्होंने कहा कि एफआईआर के बारे में मुझे कोई जानकारी नहीं है, मेरे वकील से बात करके ही बता पाऊंगा।

खबरें और भी हैं...