पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बांसवाड़ा रेल प्रोजेक्ट:5 साल बाद फिर चर्चा में प्रोजेक्ट, 10 साल में बैठकें ही होती रही, लागत 2180 करोड़ बढ़ गई

बांसवाड़ा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
डूंगरपुर. उदय विलास पैलेस में जीएम आनंद प्रकाश से चर्चा करते सांसद हर्षवर्धन सिंह। - Dainik Bhaskar
डूंगरपुर. उदय विलास पैलेस में जीएम आनंद प्रकाश से चर्चा करते सांसद हर्षवर्धन सिंह।
  • उत्तर पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक ने भौतिक निरीक्षण किया, अब तक भूमि अधिग्रहण भी पूरा नहीं हुआ

पांच साल से बंद पड़ी डूंगरपुर-बांसवाड़ा-रतलाम रेल परियोजना को फिर शुरू करने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। करीब पांच साल पूर्व तत्कालीन भाजपा सरकार ने अपना 50 प्रतिशत शेयर देने से मना कर दिया लेकिन अब गहलोत सरकार ने इस परियोजना को फिर शुरू करने में रुचि दिखाई है तो रेलवे ने इस पर फिर से काम शुरू कर दिया है।

रविवार को उत्तर पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक आनंद प्रकाश रतलाम से बांसवाड़ा इस परियोजना का भौतिक निरीक्षण करते हुए डूंगरपुर आए। यहां उन्होंने उदय विलास पैलेस में दैनिक भास्कर से खास चर्चा में बताया कि डूंगरपुर-बांसवाड़ा-रतलाम रेल परियोजना पर फिर से काम शुरू हो गया है। परियोजना 4262 करोड़ रुपए की है। परियोजना की लागत कितनी कम की जा सकती है तथा लागत के अनुरुप आय कितनी होगी आदि का आंकलन किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार भी चाहे तो इस परियोजना का 100 प्रतिशत शेयर दे सकती है। महाप्रबंधक उदय विलास पैलेस से डूंगरपुर रेलवे स्टेशन पहुंचे, यहां उन्होंने पौधरोपण किया तथा स्टेशन भवन पर यात्री सुविधाओं का निरीक्षण किया। बता दें, प्रदेश सरकार की हरी झंड़ी मिलने के बाद रेलवे ने नया एस्टीमेट बनाया है। लागत बढ़कर 4262 करोड़ हो गई है जो प्रारंभिक लागत 2082 करोड़ से दोगुना से ज्यादा है।

रेल परियोजना एक नजर

  • 2011-12 में परियोजना प्रारंभ
  • 2082.74 करोड़ रुपए परियोजना की शुरुआती लागत थी।
  • 4262 करोड़-ताजा लागत
  • 50-50 प्रतिशत शेयर (राजस्थान और केंद्र)
  • 192 किमी-रेल लाइन डलेगी
  • 142.85 किमी- राजस्थान में
  • 49.15 किमी- मध्यप्रदेश में
  • 500-ब्रिज
  • 59- आरओबी
  • 149-आरयूबी

डूंगरपुर-हिम्मतनगर का काम पूरा, ट्रेन चलाने को तैयार

जीएमआनंद प्रकाश ने डूंगरपुर-हिम्मतनगर ट्रेन शुरू करने पर कहा कि इस रेल खंड पर काम पूरा हो चुका है। यह प्रोजेक्ट राजस्थान ही नहीं देश के बड़े प्रोजेक्ट्स में से एक है। डूंगरपुर से उदयपुर रेलखंड पर सिर्फ बीच में एक टनल का काम बाकी है। यह भी जल्द पूरा हो जाएगा।

सांसद कनकमल कटारा ने कहा- रेलवे जीएम ने किया उनका अपमान

सांसद कनकमल कटारा ने उत्तर पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक आनंद प्रकाश की यात्रा के दाैरान उनसे मुलाकात नहीं करने की बात कही। सांसद ने कहा कि रेलवे के जीएम आनंद प्रकाश ने सांसद से बात नहीं कर उनका अपमान किया है। वे साेमवार काे नई दिल्ली पहुंच कर रेल मंत्री और प्रधानमंत्री से मिलकर उन्हें अवगत करवाएंगे कि रेलवे के जीएम यहां आते हैं और न तो उन्हें सूचना दी जाती है और न ही मुलाकात का समय तय कर उनसे सुझाव लिए गए। यदि जीएम मिलते तो मैं उन्हें बांसवाड़ा रेल प्रोजेक्ट को लेकर कई प्रकार के सुझाव देता।

खबरें और भी हैं...