जहर पीने से युवक की मौत:कुछ देर बाद युवती ने भी जहर खाया, एक ही गांव का मामला, मरने वाले रिश्ते में हैं भाई-बहन

बांसवाड़ा7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
महात्मा गांधी राजकीय चिकित्सालय के मुर्दाघर में पोस्टमार्टम से पहले मौजूद पुलिस और स्टाफ। - Dainik Bhaskar
महात्मा गांधी राजकीय चिकित्सालय के मुर्दाघर में पोस्टमार्टम से पहले मौजूद पुलिस और स्टाफ।

सदर थाना क्षेत्र के सामागड़ा में दिवाली की शाम जहर पीने से एक युवक की मौत हो गई। कुछ देर बाद गांव में ही एक युवती ने जहर का सेवन कर लिया। रात में युवती को यहां महात्मा गांधी राजकीय चिकित्सालय में भर्ती कराया गया, जहां तबीयत ज्यादा बिगड़ने पर उसने दम तोड़ दिया। शुक्रवार दोपहर को पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंपा। इससे पहले गुरुवार रात को ही परिवार बिना पोस्टमार्टम के शव ले जाने की जिद करते रहे, लेकिन पुलिस नहीं मानी। परिजनों की इस जल्दबाजी से कई सवाल जन्म ले रहे हैं, लेकिन दोनों की मौत के कारणों का स्पष्ट खुलासा नहीं हुआ है। किसी भी पक्ष ने मामले में FIR दर्ज नहीं कराई है। इधर, पुलिस मामले को दूसरे बिन्दुओं से जोड़कर देख रही है।

महात्मा गांधी राजकीय चिकित्सालय के मुर्दाघर के बाहर जमा परिजनों की भीड़।
महात्मा गांधी राजकीय चिकित्सालय के मुर्दाघर के बाहर जमा परिजनों की भीड़।

सदर थाना प्रभारी पूनाराम गुर्जर ने बताया कि गुरुवार को जहर पीने से सामागड़ा निवासी आशीष (20) पुत्र कालू खराड़ी की गुरुवार शाम को मौत हो गई थी। परिजन उसे उदयुपर रैफर कराकर ले गए। परिजनाें ने बिना पुलिस को सूचना दिए देर शाम शव का अंतिम संस्कार कर दिया। इस घटना के कुछ देर बार गांव के हिसाब से आशीष की बहन लगने वाली अंजना (18) पुत्री शंकरलाल खराड़ी की भी जहर सेवन से मौत हो गई। परिजनों ने पुलिस को बताया कि अंजना खेत में गई थी। घर लौटी तो उसे उल्टियां होने लगीं। इस बीच उसे अस्पताल लेकर आए, जहां उसकी मौत हो गई। पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया है। फिलहाल पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज की है, जबकि पुलिस सच्चाई जुटाने में लगी है। पुलिस ने बताया कि दोनों ने ही पढ़ाई छोड़ रखी थी और गांव में ही रहते थे।

पोस्टमार्टम के बाद शव को एबुंलेंस से घर ले जाते परिजन।
पोस्टमार्टम के बाद शव को एबुंलेंस से घर ले जाते परिजन।