सोते हुए युवक पर कुल्हाड़ी से किए वार:जरूरत पर उधार दिए रुपए मांगने से नाराज था, मरा समझ भागे बदमाश, हालत गंभीर

बांसवाड़ा12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बांसवाड़ा का पाटन थाना। - Dainik Bhaskar
बांसवाड़ा का पाटन थाना।

उधार दिए गए 12 हजार रुपए के लिए तकाजा करना एक युवक के लिए जानलेवा बन गया। तकाजे से नाराज युवक ने उसके साथियों के साथ मिलकर युवक पर जानलेवा हमला कर दिया। आंगन में सो रहे साहूकार पर बदमाश ने कुल्हाड़ी से चार वार किए। बाद में उसे मरा हुआ समझकर बदमाश मौके से भाग गए। अब युवक अस्पताल में जिंदगी और मौत से जूझ रहा है।
मामला पाटन थाना क्षेत्र के वरसाला गांव का है, जहां पत्नी पेमा घर में सोई थी। वहीं आंगन में उसका पति वागजी देवदा सोया हुआ था। तभी देवजी पुत्र रंगजी देवदा, जनता पत्नी देवजी, भूली पत्नी रंगजी, सीमा पुत्री देवजी, सीमा पुत्र देवजी, सुमित्रा पत्नी बबूल, तानसिंह पुत्र हुलिया देवदा ने रात करीब 11 बजे यहां हथियारों से लैस होकर वागजी के घर पहुंचे। देवजी के हाथ में कुल्हाड़ी थी, जिससे उसने सोते हुए वागजी के बाएं हाथ की कलाई, दाहिने कान के ऊपर, बाएं कंधे के पीछे और हाथ के दाहिने अंगूठे पर वार किए। शोर सुनकर पड़ौस में रहने वाले वागजी का बड़ा भाई भीमा और उसका लड़का नरबेसिंग मौके पर पहुंचे। उन्होंने देवजी को कुल्हाड़ी से वार करते हुए देखा। इस दौरान बाकी के आरोपी वागजी को घेरे हुए खड़े थे। आरोपी देवजी को उकसाने में लगे थे। इस दौरान आरोपी वागजी को मरा हुआ समझकर मौके से भाग गए। इसके बाद पीड़ित परिवार वागजी को लेकर छोटी सरवा के सरकारी अस्पताल लेकर पहुंचे। वहां गंभीर हालात में उसे कुशलगढ़ CHC रैफर किया गया। इसके बाद घायल को बांसवाड़ा जिला अस्पताल भेजा गया। अब घायल का उदयपुर में उपचार जारी है।
उधार लिए थे 12 सौ रुपए
वागजी की पत्नी पेमा ने पुलिस को बताया कि करीब 10 महीने पहले आरोपी देवजी देवदा उसके घर आया था। आवश्यक काम बताकर 12 हजार रुपए उधार ले गया था। देवा ने यह राशि एक माह बाद वापस लौटाने की बात कही थी। ज्यादा समय बीतने के बाद वागजी ने खुद जाकर देवजी से तकाजा किया। बाद में गांव के दो से तीन लोगों के माध्यम से उधारी के रुपए चुकाने के लिए देवजी को संदेश भिजवाया था। इसी बात से खफा देवजी और उसके परिवार ने यह हमला किया। मामले में हेड कांस्टेबल शंकरलाल जांच कर रहे हैं।

खबरें और भी हैं...