जॉइनिंग देने गई सहायिका को घसीटकर मारा:देवर को किया लहूलुहान, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता ने नहीं दिया रजिस्टर

बांसवाड़ाएक महीने पहले
मारपीट में विधवा महिला के सिर पर लगी चोट और खून से सना साड़ी का पल्लू।

सरकारी आदेश पर आंगनबाड़ी में सहायिका पद के लिए जोइनिंग देने गई युवती को कुछ लोगों ने घसीटकर पीटा। उसके साथ गए देवर को भी जमकर मारा, जो कि लहूलुहान हो गया। यहां आंगनबाड़ी कार्यकर्ता ने भी आरोपियों का साथ दिया। उच्चाधिकारियों के आदेश के बावजूद जॉइनिंग रजिस्टर नहीं दिया गया। विभाग से अनुमति से लगातार दूसरे दिन जॉइनिंग देने गई सहायिका से ये वारदात हुई। मामला सल्लोपाट थाने का है। जांच अधिकारी ASI मगनलाल ने बताया कि गांगड़तलाई निवासी प्रियंका पत्नी स्वर्गीय राम सिंह मछार ने मामले में रिपोर्ट दी है। उसने बताया कि बाल विकास परियोजना अधिकारी बागीदौरा की ओर से 16 मई को जारी आदेश की पालना में वह कालियापाड़ा आंगनबाड़ी केंद्र पर 23 मई को सहायिका के पद पर जॉइनिंग देने गई थी। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता रंगली मछार ने उसे जोइनिंग रजिस्टर नहीं दिया। इस पर वह बागीदौरा CDPO कार्यालय जाकर सारी बात बताई। वहीं से दूसरी बार मिले आदेश की पालना में 24 मई की सुबह वह वापस उसी आंगनबाड़ी गई तो वहां हकरी मछार, वनीता मछार सहित करीब सात लोगों ने उससे मारपीट की। बीच बचाव करने आए देवर प्रकाश को भी मारा। इसके बाद पीड़िता ने मामले की रिपोर्ट थाने में दी।

खुद के परिवार से जोइनिंग का विवाद

आरोपी परिवार की मंशा है कि आंगनबाड़ी केंद्र उनके गांव में घर के समीप है। वह यहां पर सहायिक पद पर खुद की महिला को लगवाना चाहते हैं। इसलिए वह कोशिश में हैं कि इस तरह से दूसरी महिला के साथ मारपीट करेंगे तो वह जॉइनिंग नहीं करेगी। इसके बाद वह उनके घर की महिला को जोइनिंग दिला देंगे। पुलिस मामले की जांच कर रही है।