कार की टक्कर से 20 फीट दूर गिरा बाइक सवार:गंभीर हालत में उदयपुर रैफर युवक ने रास्ते में दम तोड़ा, भीड़ जुटती देख भागे कार सवार

बांसवाड़ा7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कार की टक्कर से क्षतिग्रस्त हुई बाइक को देखने के लिए जुटी भीड़। - Dainik Bhaskar
कार की टक्कर से क्षतिग्रस्त हुई बाइक को देखने के लिए जुटी भीड़।

निंबाहेड़ा-दाहोद NH 56 पर बुधवार शाम को गोर्द्धन पड़ौली गांव में बाइक और कार में जोरदार भिड़त हुई। दुर्घटना में बाइक सवार युवक करीब 20 फीट दूर उछलकर गिरा। वहीं कार भी अनियंत्रित होकर सड़क से उतर गई। घायल युवक को रोगी वाहन 108 से जिला अस्पताल पहुंचाया गया, जहां गंभीर हालत देखते हुए उसे शाम करीब साढ़े 7 बजे उदयपुर के लिए रैफर किया गया। वहीं सलूम्बर तक पहुंचते हुए युवक ने दम तोड़ दिया। इससे पहले घटना की जानकारी के बाद दुर्घटना स्थल पर लोगों की भीड़ लग गई। भीड़ जुटती देख कार सवार लोग मौके से भाग निकले।

दुर्घटना के बाद सड़क पर जुटी भीड़।
दुर्घटना के बाद सड़क पर जुटी भीड़।

घटना शाम करीब 6 बजे की है, जब बाइक सवार गरनावट निवासी परमेश (30) पुत्र शंकर घाटोल से सेनावासा की ओर जा रहा था। तभी पड़ोली गोर्द्धन गांव के जेदला मोड़ पर बांसवाड़ा से घाटोल की ओर जा रही कार ने उसे सामने से टक्कर मारी। टक्कर से बाइक सवार करीब 20 फीट दूर उछलकर गिरा। वह गंभीर घायल हो गया। टक्कर के बाद कार अनियंत्रित होकर सड़क के गड्‌ढे में उतर गई। धमाका सुन समीपवर्ती लोग मौके पर आ गए। इधर, भीड़ जुटती देख कार में सवार यात्री कार छोड़कर भाग गए। सूचना पर घाटोल चौेकी पुलिस भी मौके पर पहुंची। अब कार नंबर के आधार पर कार मालिक की तलाश की जा रही है। मौके पर मिली कार गुजरात पासिंग की है। इधर, उदयपुर जाते समय युवक ने सलूम्बर के समीप दम तोड़ दिया, जिसे रात में परिवार वापस लेकर बांसवाड़ा आया। देर रात शव को जिला अस्पताल के मुर्दाघर में रखवाया गया। गुरुवार दोपहर को शव का पोस्टमार्टम होगा।

बांसवाड़ा-घाटोल के बीच नेशनल हाई-वे पर सड़क से उतरी कार।
बांसवाड़ा-घाटोल के बीच नेशनल हाई-वे पर सड़क से उतरी कार।

बीमार बहन से मिलने गया था

परिजनों से मिली जानकारी के अनुसार घायल परमेश निनामा यहां गोर्द्धन पड़ौली में रहने वाली उसकी बहन सीमा पत्नी कांति से मिलने गया था। बहन लंबे समय से बीमार थी। इसलिए परमेश बहन की कुशलक्षेम पूछने उसके ससुराल गया था। तभी घर लौटते समय ये दुर्घटना हुई। युवक के दो बहनें और तीन भाई हैं। वह सबसे छोटा था। परमेश उसके माता-पिता के साथ रहता था। खेती और मजदूरी कर घर चलाता था।

मृतक परमेश पुत्र शंकर निनामा।
मृतक परमेश पुत्र शंकर निनामा।

कंटेंट : किशोर बुनकर (घाटोल)

खबरें और भी हैं...