चोरों के कब्जे से मिली 16 किलो चांदी:परतापुर की आदिनाथ कॉलोनी के जैन मंदिर में चोरी का मामला, दूसरा आरोपी भी पकड़ा

बांसवाड़ा5 महीने पहले
चोरों से बरामद माल की जानकारी जुटाते पुलिस अधिकारी।

परतापुर स्थित आदिनाथ कॉलोनी के श्रीदिगम्बर जैन मंदिर से चोरी 16 किलो चांदी भी पुलिस ने बरामद कर ली है। वहीं मामले में वांछित तीसरे चोर को भी गिरफ्तार किया, जबकि चोर गैंग का सरगना अनिल अब भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है। इससे पहले 31 दिसम्बर की रात को चोरों ने मंदिर से करीब 18.31 किलो चांदी के आभूषण, सिंघासन और चांदी की प्रतिमाएं चोरी की थी। मामले में पुलिस ने 72 घंटे में वारदात का खुलासा करते हुए एक नाबालिग को डिटेन किया था।

वहीं एक आरोपी की धरपकड़ की थी। पुलिस की ओर से चोरी गई 66 किलो वजनी अष्टधातु की 6 प्रतिमाएं पहले बरामद की जा चुकी हैं। पुलिस लाइन में गुरुवार शाम को हुई पत्रकार वार्ता में बांसवाड़ा SP राजेश कुमार मीणा ने बताया कि मामले में उपला पातेला थाना अरथूना निवासी कपिल चरपोटा पुत्र शंकर चरपोटा की गिरफ्तारी पहले की गई थी, जबकि बाकी के आभूषण की बरामदगी के साथ ही चौबीसों का पाड़ला निवासी अर्पित डोडियार पुत्र प्रकाश डोडियार को गिरफ्तार किया गया है। वहीं आरोपी अनिल डोडियार पुत्र प्रभुलाल डोडियार एवं कालूराम उर्फ कालिया पुत्र सूरज डिंडोर की तलाश की जा रही है। टीम में ASP कैलाश सांदू, DSP सूर्यवीरसिंह, गढ़ी थाना CI पूनाराम गुर्जर की खास भूमिका रही। वहीं हेड कांस्टेबल लोकेंद्रसिंह, कांस्टेबल कैलाश ने चोरों को पकड़वाने में खास मेहनत की।

पुलिस लाइन में पत्रकारों के बीच उपलब्धि बताते हुए बांसवाड़ा SP मीणा।
पुलिस लाइन में पत्रकारों के बीच उपलब्धि बताते हुए बांसवाड़ा SP मीणा।

पुलिस ने बताई बरामदगी

  • 6 नग चांदी के सिंघासन
  • एक चांदी की थाली
  • 2 नग चांदी के मुकुट
  • बड़े कलश के तौर पर एक चांदी की झारी
  • चांदी के चार कलश
  • प्रतिहारी व अष्ट मंगल के कुल 15 नग
  • एक चांदी का श्रीविनायक मंत्र
  • एक भामंडल
  • एक चांदी का छत्र
  • सोने का झोल चढ़े हुए चंादी के दो बड़े छत्र
  • सोने की पॉलिश वाला एक छोटा छत्र
जैन मंदिर में चोरी के आरोप में धरे गए आरोपी।
जैन मंदिर में चोरी के आरोप में धरे गए आरोपी।

फिराक में थी कोतवाली पुलिस

चोर गैंग के सरगना अनिल की कोतवाली पुलिस को भी तलाश है। एक चोरी के पुराने मामले में कोतवाली पुलिस उसे पकड़ना भी चाहती है। करीब 3 दिन पहले आरोपी यहां कलेक्ट्री में घूम रहा था। सूचना पुलिस को मिल भी गई थी, लेकिन भीम आर्मी के विरोध प्रदर्शन में पुलिस व्यस्त रही और आरोपी यहां से सकुशल निकल गया।