पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

दैनिक भास्कर के खुलासे पर संज्ञान:सीएम कार्यालय ने मांगी राज बहादुर के फर्जीवाड़े की रिपाेर्ट, रिटायर्ड के बाद भी फर्जी हस्ताक्षर कर जारी की थी 200 करोड़ की स्वीकृतियां

बांसवाड़ा6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
13 अक्टूबर को प्रकाशित समाचार

पंचायत समिति गढ़ी के तत्कालीन सहायक अभियंता राजबहादुर के बिना आदेश 65 वर्ष की उम्र के उपरांत भी संविदा पर नाैकरी करने तथा बैकडेट में अरथूना पंचायत समिति क्षेत्र की ग्राम पंचायताें में फर्जी स्वीकृतियां जारी करने संबंधी मामलाें के बाद और भी गड़बड़ियां सामने आई हैं। एक ही काम की दाे बार तकनीकी व वित्तीय स्वीकृत्ति निकाल ग्राम सचिव के साथ मिल फर्जी भुगतान उठाए हैं।

वहीं भास्कर में 13 अक्टूबर काे “वाह! पंचायतीराज के बहादुर, जहां कभी एईएन भी नहीं रहे, वहां भी फर्जी हस्ताक्षर” शीर्षक से प्रकाशित समाचार काे मुख्यमंत्री कार्यालय ने गंभीरता से लिया है। मुख्यमंत्री कार्यालय ने विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव काे पत्र लिख तथ्यात्मक रिपाेर्ट मांगी है। इस पर उन्होंने बांसवाड़ा जिला परिषद से रिपाेर्ट मांगी है।

7 हैंडपंपाें की दाे बार स्वीकृति निकाल भुगतान उठाया

अरथूना क्षेत्र की ग्राम पंचायत नवाघरा में राजबहाुदर ने दाे सचिवाें के कार्यकाल में सात हैंडपंपाें की अलग-अलग स्वीकृतियां निकाल दी। लेकिन सबसे चाैंकाने वाली बात यह है कि राजबहादुर कभी अरथूना में नियुक्त ही नहीं रहे। पहले ग्राम सचिव अनिल जाेशी के कार्यकाल में हेंडपंप खुदे उनका भुगतान हाे गया था। उसके बाद आए सचिव जगदीश सुथार से मिलकर दुबारा इन हेंडपंपाें की स्वीकृतियां जारी कर दी। प्रत्येक हेंडपंप पर 51 हजार 500 की दर से सात हैंडपंपाें के खुदाई के नाम पर 3 लाख 60 हजार 500 रुपए का नकद फर्जी भुगतान उठा लिया।

यही नहीं जिन मामलाें में सचिव जगदीश सुथार के खिलाफ नियम विरूद्ध किए गए भुगतान की वसूली निकली। उस जांच रिपाेर्ट काे गलत ठहराने के लिए एईएन राजबहादुर ने सहायक अभियंता, अरथूना की सील पर स्वयं के हस्ताक्षर कर पिछली तारीखाें में स्वीकृति निकाल दी। उस फर्जी तकनीकी स्वीकृति के आधार पर सचिव सुथार ने हाइकाेर्ट में रिट दायर कर दी।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप अपने विश्वास तथा कार्य क्षमता द्वारा स्थितियों को और अधिक बेहतर बनाने का प्रयास करेंगे। और सफलता भी हासिल होगी। किसी प्रकार का प्रॉपर्टी संबंधी अगर कोई मामला रुका हुआ है तो आज उस पर अपना ध...

और पढ़ें