5 तहसीलों पर पहुंचे अभियान के रथ:कलेक्टर ने हरी झंडी दिखाई, श्रमिक स्वराज अभियान का आगाज

बांसवाड़ा6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जिला कलेक्ट्रेट में रथ को हरी झंडी दिखाकर रवाना करते कलेक्टर। - Dainik Bhaskar
जिला कलेक्ट्रेट में रथ को हरी झंडी दिखाकर रवाना करते कलेक्टर।

जिला कलेक्टर अंकित कुमार सिंह ने सोमवार को श्रमिक स्वराज अभियान के रथों को हरी झंडी दिखाई। इसके बाद सभी रथ जिला कलेक्ट्रेट से कुशलगढ, सज्जनगढ, गांगडतलाई, आनंदपुरी और घाटोल पंचायत समिति मुख्यालय के लिए रवाना हुए। अभियान के तहत 202 ग्राम पंचायतों के 750 गांवों में रहने वाले 58 वर्ष तक श्रमिकों का पंजीकरण किया जाएगा। ये कार्य सीएससी ऑपरेटर्स के माध्यम से पूरा होगा। अभियान फिलहाल 19 दिसम्बर तक चलेगा। इसके प्रदेश सरकार की गाइड लाइन को ध्यान में रखते हुए श्रमिकों को लाभांवित करने के प्रयास किए जांएगे। अभियान को लेकर सक्षम समूह, ग्राम विकास एवं बाल अधिकारी समिति के अलावा जनजातीय स्वराज संगठनों का सहयोग लिया जा रहा है। वहीं प्रचार-प्रसार भी किया जा रहा है। गौरतलब है कि अभियान का आगाज जिला प्रशासन, सीएससी व वाग्धरा संस्थान के तत्वावधान में किया जा रहा है।
ऐसा है सरकारी उद्देश्य
संस्था सचिव जयेश जोशी ने बताया कि कोविड-19 महामारी के बीच निचले तबके के लोगों के अलावा श्रमिक वर्ग खासा प्रभावित रहा है। लॉकडाउन के दौरान बड़ी संख्या में श्रमिकों की घर वापसी हुई है, जिसका डाटा सरकार के पास नहीं है। अभियान के माध्यम से ऐसा डाटा कलेक्ट कर लोगों को भविष्य में मिलने वाली सरकारी सहायता उपलब्ध कराई जाएगी। यहां असंगठित श्रमिकों के लिए ई-श्रम कार्ड बनेंगे, जो पूरे भारत में मान्य होंगे इसके माध्यम से कार्ड धारक को प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना से भी जोड़ा जा सकेगा।