• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Banswara
  • Data Entry Operator In Kushalgarh Panchayat Samiti From The Year 2010, The Incident Happened At 4 Pm In The Camp Of Kalinjra Gram Panchayat Headquarters

प्रशासन गांवों के संग अभियान में संविदाकर्मी की मौत:कुशलगढ़ पंचायत समिति में 2010 से था डाटा एंट्री ऑपरेटर, कलिंजरा ग्राम पंचायत मुख्यालय के शिविर में चक्कर खाकर गिर पड़ा, अस्पताल ले जाने पर डाक्टरों ने किया मृत घोषित

बांसवाड़ा12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
डाटा एंट्री ऑपरेटर धर्मेंद्र पवांर - Dainik Bhaskar
डाटा एंट्री ऑपरेटर धर्मेंद्र पवांर

कलिंजरा ग्राम पंचायत मुख्यालय पर प्रशासन गांवों के संग अभियान के शिविर में संविदा कर्मचारी की मौत का मामला सामने आया है। संविदा कर्मचारी वर्ष 2010 से कुशलगढ़ पंचायत समिति मुख्यालय पर बतौर डाटा एंट्री ऑपरेटर सेवाएं दे रहा था। वह यहां निजी एजेंसी के माध्यम से जुड़ा था। बुधवार शाम करीब 4 बजे वह शिविर में एकाएक चक्कर खाकर गिर गया। अन्य कर्मचारियों ने उसे संभाला और अस्पताल पहुंचाया जहां डॉक्टर्स ने उसे मृत घोषित कर दिया। पोस्टमार्टम के बाद गुरुवार को पुलिस ने शव परिजनों को सौंपा है।

नन्हे बच्चों और पत्नी के साथ संविदा कर्मचारी।
नन्हे बच्चों और पत्नी के साथ संविदा कर्मचारी।

विकास अधिकारी खुद प्रत्यक्षदर्शी
BDO (विकास अधिकारी) पप्पूलाल मीणा ने बताया कि अभियान के तहत बुधवार को कलिंजरा ग्राम पंचायत में शिविर था। इस दौरान डूंगरा छोटा निवासी डाटा एंट्री ऑपरेटर धर्मेद्र पंवार (30) पुत्र नाहर सिंह पवांर भी सेवाएं दे रहा था। दोपहर को लंच के दौरान वह कुशलगढ़ में नाश्ता करने भी गया था। लौटने के बाद भी उसके एक घंटे से ज्यादा समय तक शिविर में काम किया। तभी करीब 4 बजे चक्कर आने पर वह जमीन पर गिर गया। शिविर में कार्यरत अन्य कर्मचारियों ने उसे संभाला और कुशलगढ़ हॉस्पिटल पहुंचाया जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। BDO मीणा ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने पर ही मौत के कारणों का पता चलेगा। मीणा ने कहा कि घटना की सूचना उच्चाधिकारियों को दी है।
धर्मेंद्र के दो मासूम बच्चे
संविदा कर्मचारी के दो मासूम बच्चे हैं। इनमें बेटा 12 साल का है, जबकि बेटी अभी केवल 5 साल की है। धर्मेंद्र का परिवार अलग रहता है। पत्नी श्वेता पंवार के सामने अब बच्चों का खर्च उठाना और गुजर बसर करना बड़ी चुनौती है। नाहर सिंह पंवार के दो बेटे हैं, जिनमें धर्मेंद्र दूसरे नंबर का था।

इनपुट : निरंजन बाघ (कुशलगढ़)

खबरें और भी हैं...