कार्यक्रम:भगवान महावीर स्वामी के निर्वाणोत्सव पर श्रद्धालुओं ने चढ़ाया निर्वाण लड्‌डू

बांसवाड़ा24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

बाहुबली कॉलोनी जिनालय में दिगंबर जैन समाज के श्रद्धालुओं ने भगवान महावीर का निर्वाण दिवस मनाया। इस अवसर पर श्रद्धालुओं ने निर्वाण लड्डू अर्पित किया। निर्वाण दिवस पर आर्यिका रत्न प्रशस्त मति माताजी, आर्यिका रत्न अर्हम श्री माताजी ने प्रवचन में कहा कि आप भगवान महावीर स्वामी के 2548 वां निर्वाण दिवस मना रहे हो और आप लड्डू चढ़ा रहे हैं। इसलिए आपको अपने स्वभाव में मिठास लानी चाहिए। गुरु मां ने बताया आज पांच महोत्सव हैं।

भगवान महावीर का निर्वाण महोत्सव, गौतम स्वामी केवल ज्ञान महोत्सव, वीतरागी राम का आज के दिन अयोध्या आगमन, आचार्य भरत सागर महाराज का समाधि का दिन,आचार्य विभव सागर महाराज का 46वां अवतरण दिवस है। सभी ने बड़ी धूमधाम के साथ यह पर्व मनाया। जिसमें शांति धारा एवं पंचामृत सौधर्म इंद्र बन कर पंचशील परिवार विजेंद्र सेठ, विपिन शाह, महेंद्र जी वोरा परिवार ने लाभ लिया। लड्डू चढ़ाने का सौभाग्य महिपाल शाह, विपिन शाह, सेवानिवृत्त सीडीपीओ नयना पतंगिया, चंद्रकांत दाेसी सपरिवार को मिला। इस अवसर पर सभी ने भगवान महावीर स्वामी की पूजा अर्चना की।

आचार्य गुरुवर विभव सागर जी महाराज के अवतरण दिवस पर बड़ी धूमधाम के साथ सास मंडल, बहू मंडल, नवयुवक मंडल समाज के वरिष्ठ और बाहुबली कॉलोनी के श्रावकों द्वारा बड़ी धूमधाम मनाया गया। चातुर्मास कमेटी के प्रवक्ता महेंद्र कवालिया ने बताया कि नव वर्ष की प्रातः चातुर्मास कलश दातार के घर गुरु मां के सानिध्य में जाकर कलश स्थापना की। जिसमें प्रथम कलश विपिन जी मोतीलाल जी शाह,द्धितीय कलश रमेश भूरी लाल चित्तौड़ा, तृतीय कलश सुरेश कुमार कन्हैयालाल अरिहंत परिवार के वहां मंत्रोच्चार के साथ स्थापित किया।

उसके बाद गुरु मां ने नववर्ष पर प्रवचन में बताया कि नये वर्ष में नए-नए विचारों को उत्पन्न करो, विशुद्धि नई -नई बढ़ाओ यही नववर्ष में आप सभी को आशीर्वाद है। दिन में आचार्य भरत सागर महाराज की समाधि दिवस पर प्रवीण वखारिया परिवार द्वारा पूजा एवं विधान किया गया। मंच का संचालन नरेंद्र चित्तौड़ा, महिपाल शाह, संगीतमय भक्ति रिंकू मेदावत द्वारा किया गया। आभार सकल दिगंबर जैन समाज बाहुबली कॉलोनी के अध्यक्ष महेंद्र वोरा ने जताया।

अतिशय तीर्थ क्षेत्र अंदेश्वर पार्श्वनाथ में गुरुवार को आचार्य सुनील सागरजी महाराज के सान्निध्य में भगवान महावीर का निर्वाणोत्सव मनाया गया। तीर्थ कमेटी अध्यक्ष जयंतीलाल सेठ और महामंत्री हंसमुख सेठ ने बताया कि गुरुवार सुबह साढ़े छह बजे भगवान का जलाभिषेक व शांतिधारा की गई। इसके बाद आचार्य सुनील सागरजी महाराज ससंघ के सान्निध्य में निर्वाण लाडू चढ़ाया। नववर्ष पर आचार्य के पाद प्रक्षालन का लाभ लक्ष्मीलाल बसंतीलाल खमेरा ने किया। नीलेश कुमार दोशी ने शास्त्र भेंट किए, आरती की बोली कमलेश मेहता कोहाला ने ली।

आचार्य ने कहा कि जब संसार में घनघोर अज्ञान का अंधकार था, ऐसे समय में भगवान महावीर स्वामी का इस संसार में अवतरण हुआ। उन्होंने प्राणी मात्र को ज्ञान का प्रकाश फैलाया। उजाले पर उसी का अधिकार है, जो स्वयं दीप की तरह जलने के लिए तैयार है।

.कोहाला के चंद्रप्रभु दिगंबर जैन मंदिर में भगवान महावीर का 2548वां निर्वाण महोत्सव पर पूजा अर्चना कर निर्वाण लड्डू चढ़ाया। अंत मे भगवान महावीर की आरती की गई। रात को सभी ने अपने घरों पर और मंदिर में दीपक जलाकर खुशियां मनाई। इस मौके पर सुशील मेहता, कांतिलाल मेहता, जयंतीलाल मेहता, दीपक मेहता, कपिल मेहता, उमेश मेहता, सचिन मेहता, दिनेश मेहता, कमलेश मेहता, विनोद मेहता, नीलेश मेहता, हेमंत मेहता, अनूप मेहता, रोचक मेहता, वर्धमान मेहता व समस्त जैन समाज कोहाला मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...