भास्कर टीम की पड़ताल में खुलासा:घरों और पान की दुकानों पर बिक रहा विस्फोटक, तस्कर बोले-जितना चाहिए मिलेगा

बांसवाड़ा4 महीने पहलेलेखक: दीपेश मेहता/अमजद खान
  • कॉपी लिंक

पालोदा, पाटन, गांगड़तलाई, भूंगड़ा और वजवाना के घरों में अवैध विस्फोट बिना किसी डर के बिक रहा है। पान की दुकान की आड़ में भी ये विस्फोट सामग्री बिक रही है। वो भी महज 100-100 रुपए में। जिलेटिन की छड़े व बारूद इतना खतरनाक है कि मोबाइल रेडिएशन में भी फट सकता है य। मार्च में पाटन क्षेत्र के एक घर में भारी मात्रा में विस्फोटक मिलने के बाद दैनिक भास्कर ने 2 महीने तक 5 गांवों की पड़ताल की तो कई चौंकाने वाले खुलासे हुए। 5 गांवों में अवैध रूप से डेटोनेटर, फ्यूजवायर, जिलेटीन की छड़े बेची जा रही है। भास्कर ने लाइसेंस के बारे में पूछा तो बोले कि वे ही लाइसेंस है। कितना विस्फोटक चाहिए, वो बताइए।

तस्करी का रूट मैप
उदयपुर, भीलवाड़ा और अजमेर के रास्ते ला रहे हैं विस्फोटक : बांसवाड़ा में अवैध तरीके से विस्फोटक उदयपुर, अजमेर और भीलवाड़ा के रास्ते लाया जा रहा है। भास्कर स्टिंग में तस्करों ने दावा किया कि जिलेभर में हर साल एक करोड़ रुपए से ज्यादा का विस्फोटक बिक रहा है। पाटन में जिन 2 आरोपियों को पकड़ा गया, उसके बाद पुलिस ने पूछताछ के आधार पर कोई कार्रवाई नहीं की।

वजवाना : दाम बढ़ गए हैं, 50 रु. में सिंगल टोपी और 70 रु. में डबल टोपी
भास्कर टीम पहुंची वजवाना सीमेंट फैक्ट्री से कुछ ही दूरी पर एक रिहायशी मकान में। यहां प्रकाश नाम का व्यक्ति अवैध रूप से विस्फोटक बेचता मिला। जब उससे विस्फोटक मांगा तो बोला-50 रु. में सिंगल टोपी और 70 रु. में डबल टोपी मिलेगा। भास्कर टीम ने यहां से सिंगल टोपी के साथ पांच छड़ें खरीदी।

पालोदा : पान की दुकान में बेच रहे विस्फोटक
ये पालाेदा का मुख्य बस स्टैंड है। यहां पान की दुकान में विस्फोटक बेचा जा रहा है। पान की दुकान पर पहुंचे तो बुजुर्ग दिखा। विस्फोट मांगा तो बोला कि मिल जाएगा, बुजुर्ग से भास्कर टीम ने डबल टोपी की दो छड़ें खरीदी। बुजुर्ग ने गुटखों के पैकेट में जिलेटिन की छड़ें छिपा रखी थी। पूछताछ में बुजुर्ग ने बताया कि वह उदयपुर से विस्फोटक लाता है।