कार सवार महिला से चेन लूटी!:पहले कार को साइड टक्कर मारा, फिर चाकू दिखाकर लूटा, ASP व DSP पहुंचे

बांसवाड़ा3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
डेमो पिक। - Dainik Bhaskar
डेमो पिक।

कार सवार युवक से दिनदहाड़े लूट का मामला सामने आया है। युवक पत्नी सहित दो महिलाओं को कार से लेकर साबला जा रहा था। तभी पीछे से अज्ञात पिकअप ने उसे साइड से टक्कर मारी। कार को जैसे ही ब्रेक मारे पिकअप में सवार तीन लोग उतरे। उन्होंने चाकू दिखाया और पत्नी के गले की चेन लूट ली। कार ड्राइवर युवक के दिव्यांग होने की भी जानकारी है। घटना की सूचना पर थोड़ी ही दूर बेणेश्वर में मौजूद ASP कान सिंह भाटी व DSP कैलाशचंद्र, क्राइम असिस्टेंट CI प्रदीप बिट्‌टू मौके पर पहुंचे। उन्होंने पीड़ित से बातचीत की, लेकिन लूट का शिकार युवक ने गाड़ी नंबर की जानकारी से इनकार किया। अब तक युवक की ओर से किसी थाने में भी मामला दर्ज नहीं कराया गया है। मामला खमेरा थाना क्षेत्र के बोरदा का है।

वारदात की कहानी
दरअसल, साबला (डूंगरपुर) निवासी नरेश कुमार पंचाल उनकी पत्नी के साथ बीती शाम करीब 4 बजे घाटोल-गनोड़ा मार्ग से कार लेकर घर की ओर जा रहे थे। तभी बोरदा के समीप मेन रोड पर पिकअप वाहन सवार ने पहले तो साइड से कट मारते हुए गाड़ी अड़ा दी। बाद में लूट की वारदात की। युवक ने वारदात की सूचना बांसवाड़ा पुलिस कंट्रोल रूम को दी। सूचना के बाद पुलिस के सभी बड़े अधिकारी मौके पर पहुंचे, जिन्होंने पूछताछ के बाद युवक को थाने में रिपोर्ट कटाने की बात कही। इसके बाद से युवक अब तक रिपोर्ट नहीं दी है। अब उसने पुलिस का फोन उठाना भी बंद कर दिया है। खमेरा थानाधिकारी CI प्रदीप कुमार ने कहा कि सूचना देने वाले युवक को FIR देने के लिए फोन लगाया गया है, जो कि घर में आराम करने की बात कह रहा है। वहीं कल आने का आश्वासन दिया है।
पुलिस को कन्फ्यूजन
वारदात को लेकर पुलिस अभी कन्फ्यूजन में है। ये तय नहीं कर पा रही है कि युवक के साथ वारदात हुई है या नहीं। इसकी एक वजह युवक की ओर से स्पष्ट जवाब नहीं देना भी है। वह लूट करने वाले लोगों की पहचान नहीं बता पा रहा है। इसी तरह गाड़ी का नंबर बताने में भी असमर्थता जता रहा है।
सोनिया गांधी की सभा के लिए गए थे
दरअसल, पुलिस के आला अधिकारियों का वारदात स्थल पर पहुंचना भी इत्तफाक था। सभी अधिकारी बांसवाड़ा SP राजेश कुमार मीणा, कलेक्टर प्रकाशचंद्र शर्मा के साथ बेणेश्वर धाम में सोनिया गांधी के प्रस्तावित सभा स्थल का मौका देखने गए थे। तभी कंट्रोल रूम से लूट का मैसेज आया। घटना स्थल पास में ही था। इसलिए अधिकारी खुद मौके पर पहुंच गए।