पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

डॉक्टर डे विशेष :सीएमएचओ, पीएमओ से लेकर स्पेशलिस्ट तक बने, अपनों को दे रहे सेवाएं

बांसवाड़ा15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • आदिवासी क्षेत्र से फिजिशियन, सर्जन और मेडिकल ऑफिसर तक बने, 400 से ज्यादा विद्यार्थी कर रहे हैं मेडिकल की पढ़ाई
Advertisement
Advertisement

आज डाॅक्टर्स दिवस है। स्वास्थ्य संसाधनाें की कमी वाले आदिवासी बाहुल्य टीएसपी क्षेत्र के लिए इस दिन के मायने ओर भी बढ़ जाते हैं। जहां ग्रामीण इलाकाें में डाॅक्टराें की भीषण कमी है। कुछ राेग विशेषज्ञाें के पद ताे अर्से से खाली पड़े हैं। दूरस्थ इलाकाें की बात करे ताे सामान्य प्रवस के लिए भी कई बार गुजरात का रुख करना पड़ता है। लेकिन, मेहनतकश आदिवासियाें ने इस चुनाैती काे भी स्वीकारा।

आपकाे जानकर अच्छा महसूस हाेगा कि बांसवाड़ा-डूंगरपुर और उदयपुर सरीखे जिलाें में सीएमएचओ और पीएमओ के प्रमुख पदाें पर आदिवासी अधिकारी है। यहां पद की किसी जाति से तुलना करना मकसद नहीं है बल्कि यह बताना है कि किस तरह पिछड़े माने जाने वाले हमारे टीएसपी क्षेत्र से लगातार कड़ी मेहनत के बूथे आदिवासियाें ने स्वास्थ्य सेवाओं में भी नई बुलंदियां छुई है।

बांसवाड़ा स्वास्थ विभाग में 50 फीसदी से ज्यादा पदाें पर आदिवासी अधिकारी या कर्मचारी सेवाएं दे रहे हैं। ऑल आदिवासी डाॅक्टर्स वेलफेयर साेसायटी के संभगाीय अध्यक्ष डाॅ. दीपक निनामा बताते है कि करीब 200 स्थानीय आदिवासी स्वास्थ सेवाओं से जुड़े हुए हैं।

इसके अलावा संगठन के 700 सदस्य हैं जाे मेडिकल सेवाएं दे रहे हैं या अध्यनरत है। 60 सदस्य पाॅस्ट ग्रेज्युएट कर रहे हैं। आज फिजिशियन, सर्जन, ऑर्थाेपेडिक, मनाेचिकित्सक से लेकर राेग विशेषज्ञ के पदाें पर आदिवासी विघार्थियाें ने कड़ी मेहनत के बूते अपनी कामयाबी हासिल की है। अच्छी बात यह है कि बीते कुछ सालाें से यह ट्रैंड लगातार बढ़ता जा रहा है

समाज में जागृति आई है, फील गुड कराता है

  •  कुछ सालाें में मेडिकल सर्विस काे लेकर जागृति आई है। आदिवासी विद्यार्थियों 50 फीसदी पदाें पर कार्यरत हैं। इसमें स्काॅप भी है। मैंने  बचपन में स्वास्थ्य सेवाओं के लिए लाेगाें काे संघर्ष करते देखा है। आज अपने ही क्षेत्र में सेवा देना बेहद सुकून देने वाला है। डाॅ. एच.एल.ताबियार, सीएमएचओ, बांसवाड़ा  

बड़े ऑफर ठुकराए, रुपयाें के साथ दुआएं नहीं मिलती 

  • टीएसपी क्षेत्र में स्वास्थय सेवाओं की कमी रही है। मैंने महसूस किया है कि गरीब काे सर्जरी करनी हाेताे वह धक्के खाने पड़ते थे। अच्छा ऑफर था। लेकिन सुपर स्पेशलिटी के बाद बाहर सेवा देता। लेकिन, मेरे इलाके में मैंने जाे करीब से देखा था उसे भूल नहीं पाया। रुपयाें के साथ दुआएं शायद दूसरी जगह नहीं मिलती। डाॅ. विनेश कुमार राणा, सर्जन, बांसवाड़ा
Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज का दिन पारिवारिक और आर्थिक दोनों दृष्टि से शुभ फलदायी है। व्यक्तिगत कार्यों में सफलता मिलने से मानसिक शांति का अनुभव करेंगे। कठिन से कठिन कार्य को आप अपने दृढ़ निश्चय से पूरा करने की क्षमत...

और पढ़ें

Advertisement