पत्नी की मौत, सदमे में पति ने भी दम तोड़ा:पानी पिलाने पहुंचा था, नहीं पिया तो खड़े-खड़े ही गिरा

बांसवाड़ा2 महीने पहले

पत्नी की मौत के 10 मिनट बाद ही पति भी दुनिया को छोड़ गया। मरने से पहले पहले पत्नी ने पानी मांगा तो पति पानी पिलाने पहुंचा। जब पानी की घूंट मुंह के अंदर नहीं गई तो उसे अनहोनी का अंदेशा हुआ। पत्नी की मौत का सदमा बुजुर्ग बर्दाश्त नहीं कर सका । बुजुर्ग उठकर 10 कदम ही आगे बढ़ा था कि खड़े-खड़े जमीन पर गिर पड़ा। घरवालों ने संभाला तो उसकी भी मौत हो चुकी थी। मामला शुक्रवार का बांसवाड़ा जिले के बस्सी चंदनसिंह गांव का है।

गायरी मोहल्ले में रूपा गायरी (70) की पत्नी केसर गायरी (65) को करीब दो महीने पहले पैरालिसिस (लकवा) का अटैक आया था। केसर का उदयपुर में इलाज चल रहा था। शुक्रवार सुबह 9 बजे केसर ने पति रूपा से पीने का पानी मांगा। बुजुर्ग को पानी लेकर पहुंचने में थोड़ी देरी हुई। जब पानी पिलाने लगा तो देखा की केसर ने पानी की एक बूंद भीतर नहीं ली। तभी रूपा को पत्नी की मौत का पता चल गया। वह सदमे को बर्दाश्त नहीं कर पाए। मुश्किल से 10 मिनट बाद वह 10 कदम आगे बढ़ा होगा। खुद भी खड़े-खड़े गिर गया। घरवाले संभालने पहुंचे तब तक रूपा की भी मौत हो चुकी थी।

50 साल पहले हुई थी शादी
गांव के सरपंच रामलाल दायमा ने बताया कि बुजुर्ग दंपती की अंतिम यात्रा में पूरा गांव शामिल हुआ। इलाके में ऐसी घटना पहली बार हुई होगी, जब पति-पत्नी की एक साथ अर्थी निकली हो। भाई लाला गायरी बताते हैं कि करीब 50 साल पहले रूपा और केसर बाई की शादी हुई थी। उनके पांच बेटे-बेटी हैं। बेटे-बेटियों की शादी हो चुकी है।

पति-पत्नी का एक ही चिता पर अंतिम संस्कार किया गया। शवयात्रा में पूरा गांव शामिल हुआ।
पति-पत्नी का एक ही चिता पर अंतिम संस्कार किया गया। शवयात्रा में पूरा गांव शामिल हुआ।