पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Banswara
  • Goddess Rani's Bhajan Book Released In Ganpati Temple, Lodhi Will Promote Tourism By Connecting Kashi With Religious Circuit: Chairman Trivedi

कार्यक्रम:गणपति मंदिर में माता रानी के भजन पुस्तक का किया विमोचन, लोढ़ी काशी को धार्मिक सर्किट से जोड़कर पर्यटन को देंगे बढ़ावा : सभापति त्रिवेदी

बांसवाड़ा10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
भजनों की पुस्तक का विमोचन करते सभापति और गणमान्य नागरिक।

शहर के प्रसिद्ध श्री सिद्धि विनायक गणपति मंदिर में शनिवार को बेटी बचाओ अभियान की ब्रांड एंबेसेडर डाॅ. रक्षा सराफ की पुस्तक ‘माता रानी के भजन’ का विमोचन नगर परिषद् के सभापति जैनेन्द्र त्रिवेदी ने किया। पुस्तक में भजनों का संग्रह है, जिसको आमजन तक पहुचाया जाएगा। सभापति ने कहा कि लोढ़ी काशी श्रद्धा, आस्था और भक्ति का केंद्र है। यहां सत्संग की सरिता सदैव प्रवाहमान रहती है। उन्होंने कहा कि यहां शिव और शक्ति के प्रख्यात उपासना स्थल हैं। इसको धार्मिक सर्किट से जोड़कर पर्यटन को बढ़ावा दिया जाएगा।

उन्होेंने पुस्तक की भूरि-भूरि प्रशंसा करते हुए कहा कि इस कोरोना काल में लोग घरों में रहकर भक्ति कर सके, इस कार्य में यह मददगर होगी। डाॅ. रक्षा सराफ ने पुस्तक का परिचय देते हुए कहा कि शक्ति के इस पर्व में घर-घर में भक्ति हो इस उद्देश्य को लेकर इसका प्रकाशन करवाया गया है। इसमें शहर के 32 मंडलों द्वारा गाए जाने वाले भजनों को संग्रहित किया गया है। इस अवसर पर भजन गायक राकेश भट्ट ने ‘‘गणपति देव बड़ा बलवान’’ भजन प्रस्तुत किया। आरम्भ में अंकुर स्कूल के सचिव शैलेन्द्र सराफ व प्रधानाचार्य डाॅ. रक्षा सराफ ने अतिथियों का स्वागत किया। इससे पूर्व सभापति ने श्री सिद्धि विनायक मंदिर में पूजा-अर्चना की।

कार्यक्रम में श्रीमद् भागवत समिति के वरिष्ठ उपाध्यक्ष सुरेश गुप्ता, उडान संस्था की अध्यक्ष रोजी केडिया, अंजना कुबावत, दीपिका दीक्षित, छाया जोशी, रेखा कंसारा, विभा सराफ, अर्चना गुप्ता, बबिता गुप्ता, गणेश मंडल के अजय त्रिवेदी, चन्दूमल सेठिया आदि उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन डाॅ. दीपक द्विवेदी ने किया और आभार कीर्ति आचार्य ने जताया।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- चल रहा कोई पुराना विवाद आज आपसी सूझबूझ से हल हो जाएगा। जिससे रिश्ते दोबारा मधुर हो जाएंगे। अपनी पिछली गलतियों से सीख लेकर वर्तमान को सुधारने हेतु मनन करें और अपनी योजनाओं को क्रियान्वित करें।...

और पढ़ें