10 फीट लंबे अजगर को ट्रक ने रौंदा:शिकार की तलाश में सड़क पर आ गया था अजगर, रात के अंधेरे में ट्रक ने कुचला; क्षत-विक्षत हालत में बिखरा

बांसवाड़ा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बांसवाड़ा-उदयपुर मुख्य मार्ग पर हुई अजगर की मौत। - Dainik Bhaskar
बांसवाड़ा-उदयपुर मुख्य मार्ग पर हुई अजगर की मौत।

बांसवाड़ा-उदयपुर मार्ग पर आसपुर से गुजरती गोल नदी की पुलिया के किनारे 10 फीट लंबे अजगर को ट्रक ने चपेट में ले लिया। चालक ने ट्रक के अगले पहिए से उसे बचाने की कोशिश भी की। इससे बाद भी उसका मुंह वाला अगला हिस्सा कुचल गया। अजगर रात करीब 2 बजे शिकार पर निकला था, लेकिन सड़क पार एक झोंपड़ी की बागड़ में बंधे बकरों का शिकार करने से पहले खुद ही शिकार हो गया।

रात के अंधेरे में कार की लाइट में दिखता अजगर।
रात के अंधेरे में कार की लाइट में दिखता अजगर।

दरअसल, घटना शुक्रवार रात करीब दो बजे की है। गोल नदी के पुल के सटे किनारे से एक अजगर अंधेरे में सड़क पार कर रहा था। तभी वह बांसवाड़ा से उदयपुर को जा रहे लदे हुए ट्रक की चपेट में आ गया। इससे पहले ट्रक की लाइट में सड़क पर हलचल देख चालक ने ट्रक को एक ओर कर अजगर को बचाने की कोशिश की। लेकिन, ढलान वाली सड़क पर सामने गोल नदी की पुलिया भी थी। इसलिए चालक ने ज्यादा रिस्क नहीं ली। तब अजगर अगले पहिए में आने से तो बच गया, परंतु जिद्दी स्वभाववश अजगर आगे ही बढ़ता रहा और ट्रक के पिछले टायर से उसका मंुह कुचल गया। अगला हिस्सा पूरी तरह तितर-बितर हो गया। सड़क पर पड़ा हुआ अजगर का पूरा पिछला हिस्सा उसकी सड़क पर मौजूदगी बताता रहा। रात को गुजरने वाले कार सवार जिंदा अजगर जानकर उसे बचाने के प्रयास करते देखे गए। चूंकि नदी किनारे यह इलाका रात में सूनसान रहता है। इसलिए कार रोककर अजगर की असलियत जानने का किसी ने जोखिम नहीं उठाया।

संभवत: अजगर पहली बार
उदयपुर से बांसवाड़ा तक करीब 165 किलोमीटर लंबे इस मार्ग पर उदयपुर से सटा जंगल खास तौर पर पड़ता है। वाइल्ड लाइफ सेंचुरी में शामिल इस इलाके में करीब 8 किलोमीटर लंबी सड़क गुजरती है। इसी तरह उदयपुर से करीब 50 किमी दूर जयसमंद क्षेत्र भी वाइल्ड लाइफ सेंचुरी में शामिल है। इसके अलावा मार्ग में प्राकृतिक जंगलों और नदी नालों की भी कमी नहीं है। यहां सड़क पर रात के समय अक्सर जंगली जीवों के वाहनों की चपेट में आने के मामले आते हैं। इनमें सर्वाधिक मौतें सियार की होती हैं। इसके अलावा नेवला, सांप, जरख, स्याही, कछुओं जैसे जीवों के मरने की घटनाएं भी होती हैं, लेकिन अजगर के बीच सड़क में वाहन से मरने की संभवत: यह पहली घटना है।

खबरें और भी हैं...