सड़क हादसे में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता की मौत:घर से ऑफिस की मीटिंग के लिए निकली थी, परिवार में अकेली कमाने वाली थी

बांसवाड़ा3 महीने पहले
मृतका प्रियंका दवे।

सड़क हादसे में शुक्रवार को आंगनबाड़ी कार्यकर्ता की मौत हो गई। भीलकुआं से गुजरते दाहोद नेशनल हाईवे पर दोपहर के समय वह घायल अवस्था में पड़ी थी, जिसे रोगी वाहन 108 से जिला अस्पताल रैफर किया गया। यहां डॉक्टर्स ने उसे मृत घोषित किया। महिला की मौत किस वाहन से हुई और किसके दुपहिया में बैठकर जा रही थी। इस बारे में पता नहीं चला है। न ही लिफ्ट देने वाले बाइक सवार की ओर से घटना की सूचना किसी को दी गई। इतना जरूर सामने आया है कि महिला कार्यकर्ता उसके घर से कुशलगढ़ मीटिंग में शामिल होने जा रही थी। मामला सज्जनगढ़ थाने का है।

हॉस्पिटल के बाहर विलाप करता पति।
हॉस्पिटल के बाहर विलाप करता पति।

थाने के ASI मुनाव खान ने बताया कि सड़क दुर्घटना में नागावाड़ा (कलिंजरा थाना) निवासी आंगनबाड़ी कार्यकर्ता प्रियंका दवे (38) पत्नी प्रकाश दवे की मौत हो गई। वह सड़क पर घायल अवस्था में पड़ी थी, जिसे बांसवाड़ा भिजवाया गया था। मामले में जांच अधिकारी HC हेमंत पाटीदार ने बताया कि फिलहाल वह शव का पोस्टमार्टम कराने जा रहे हैं। किस वाहन से दुर्घटना हुई और महिला किस वाहन पर थी। इसकी जानकारी उन्हें नहीं है।
घर में अकेली कमाने वाली थी
आंगनबाड़ी कार्यकर्ता उसके घर में अकेली कमाने वाली थी। पति पहले चाय की दुकान करता था, लेकिन अभी धंधा नहीं होने के कारण दुकान भी बंद है। महिला के 18 साल का एक लड़का भी है, जो 9वीं क्लास में पढ़ता है। परिवार बच्चे की मानसिक स्थिति को लेकर भी खुश नहीं है। वहीं एक बूढ़ी सास भी बहू के भरोसे थी। परिजनों के अनुसार महिला की मौत से उसका पूरा परिवार बिखर गया है।