पुरानी रंजिश में दो गुटों में झगड़ा:टैंपों ड्राइवर को बेहोश होने तक मारा, रास्ता रोककर पीटा, क्रॉस मुकदमे दर्ज

बांसवाड़ा4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
डेमो पिक। - Dainik Bhaskar
डेमो पिक।

दो गुटों के बीच जमीनी विवाद में रंजिश को लेकर एक दिन पहले खूनी संघर्ष हुआ था। मगर पुलिस जांच में पुरानी दुश्मनी को लेकर अभी कुछ क्लियर नहीं हुआ है। दोनों ही पक्षों ने रास्ता रोककर मारपीट करने की शिकायत थाने में दी है। एक पक्ष का आरोप है कि दूसरे पक्ष ने उसे तब तक मारा, जब तक कि वह बेहोश होकर नीचे नहीं गिर गया। बदमाशों ने उसे जान से मारने की कोशिश की लेकिन होश आते ही वह जंगल से बचते बचाते घर पहुंच गया। वहीं दूसरे पक्ष का कहना है कि वह रात को 11 बजे शराब लेने निकले थे। तभी उस पर एक परिवार के कुछ लोगों ने हमला कर लहूलुहान कर दिया। पुलिस ने क्रॉस मुकदमे दर्ज किए हैं। मामला बांसवाड़ा का है।

जांच अधिकारी HC इंद्राज सिंह ने बताया कि दोनों पक्षों से मारपीट की रिपोर्ट मिली है। सुरापाड़ा लक्ष्मण निनामा ने बताया कि वह सुबह करीब साढ़े 4 बजे टैम्पो लेकर बांसवाड़ा जा रहा था। तभी सुरापाड़ा बड़ी कैनाल के पास आरोपी मुकेश मकवाना ने हाथ से रुकने का इशारा किया। मुकेश ने उसे टैम्पों से उतरने को कहा। वह जैसे ही नीचे उतरा। आरोपी ने कुल्हाड़ी का डंडा उसकी आंख पर मारा। वह वारदात में खुद के बचाव में नीचे गिर गया। तभी झाड़ियों में छिपे हुए करीब पांच जने बाहर आ गए। उन्होंने उसे तब तक मारा, जब तक की वह बेहोश नहीं हो गया। बाद में बदमाश उसी के टैम्पों से उसे भैरवजी स्थान वाले जंगल में ले गए। वहां पर बदमाश उसे जान से मारने की कोशिश में थे। तभी उसे होश आया तो वह चिल्लाया। शोर सुनकर कुछ समीपवर्ती लोग वहां आ गए, जिन्होंने उसे बचा लिया। टैम्पों अभी भी जंगल में खड़ा है।

दूसरे पक्ष का आरोप
इधर, मुकेश मकवाना ने रिपोर्ट दी कि वह रात 12 बजे उसके दोस्त के साथ गांव में शराब लेने जा रहा था। दुकान के पास सीसी सड़क पर मौजूद पंकज, मोकला, महेंद्र ने उसे रोक लिया। इसके बाद जमकर लात घूसें किए। पथराव भी किया। तभी उसके साथी ने पड़ाैसियों को बुलाकर बीच बचाव कराया। इसके बाद आरोपी वहां से भाग गए।